Attitude Shayari | Instagram Attitude Shayari

Spread the love

In this page you will read attitude shayari, Instagram attitude shayari, attitude shayari in english hindi, 2 line attitude shayari, attitude shayari in hindi, hindi attitude shayari etc…

Attitude Shayari

Attitude shayari

जैसे को तैसा करने में, मैं लाजवाब हूँ…
जितना अच्छा हूँ, उससे कहीं ज्यादा खराब हूँ…
Jaise ko taisa karne men, mai lajavab hun…
Jitna achcha hun, usse kahin jyada kharab hun…

Attitude shayari

अपनी हद में रह, ओ हद से गुजरने वाले
मैं अकेला हूं कमजोर नहीं, भीड़ में चलने वाले
और शुक्र कर उस खुदा का,
जो तुझपे रहम बरसा रहा है
पर बुरा वक्त तो उसने तेरा भी लिखा होगा
किसी के बुरे वक्त से मुँह फेरने वाले
Apni had mein rah, o had se gujarne vaale
Main akela hun kamajor nahin, bheed mein chalne vaale
Aur shukr kar us khuda ka, jo tujhpe raham barsa raha hai
Par bura vakt to usne tera bhi likha hoga
Kisi ke bure vakt se munh pherane vaale

Attitude shayari

उस दिन मुझे अच्छा नहीं लगता, जिस दिन मैं खुद से नहीं लड़ता…
मेरी जिंदगी में अब कौन आ-जा रहा है, मुझे इससे फर्क नहीं पड़ता…
Us din mujhe achchha nahin lagta, jis din mai khud se nahin ladta…
Meri jindagi mein ab kaun aa-ja raha hai, mujhe isase phark nahin padta…

Attitude shayari

मैं अकेला ही ठीक हूं, मेरे पास मत आना…
आईना पहले खुद देखना, बाद में मुझे दिखाना…
Mai akela hi theek hun, mere paas mat aana
Aaina pahle khud dekhna, baad men mujhe dikhana

Attitude shayari

उतना ही मिले जितना मेरे हक़ में है, इससे ज्यादा कुछ नहीं चाहता हूं…
हाँ जिन लोगों से मैं जुडा हुआ हूं, उन्हें मैं हमेशा खुश देखना चाहता हूं…
Utna hi mile jitana mere haq mein hai, isse jyaada kuchh nahin chaahata hoon…
Haan jin logon se main juda hua hoon, unhen main hamesha khush dekhna chaahata hoon…

Attitude Shayari Hindi

Attitude shayari

मुझे पता है, आबाद नहीं हूं मैं…
पर अपनों पे ऊँगली उठा दूँ, इतना बर्बाद नहीं हूं मैं…
Mujhe pata hai, aabaad nahin hun main…( Attitude Shayari )
Par apnon pe ungli utha dun, itna barbaad nahin hun main..

Attitude shayari

पहले अपने पैरों पे खड़े होंगे…
उसके बाद ही किसी के प्यार में पड़ेंगे…
Pahle apne pairon pe khade honge…
Uske baad hi kisi ke pyaar mein padenge…

Attitude shayari

पहले हम कुछ और थे, अब कुछ और हो गए हैं…
कोई वक्त नहीं देता था, इसीलिए एक दौर हो गए हैं…
Pahle ham kuchh aur the, ab kuchh aur ho gae hain…
Koi vakt nahin deta tha, isilie ek daur ho gae hain…

Attitude shayari

तुमसे ज्यादा मैं अपने आप को जानता हूं…
आईना तुम्हें देखने की जरुरत है, खुद को मैं पहचानता हूं…
Tumse jyada main apne aap ko janta hun…
Aina tumhen dekhane kee jarurat hai, khud ko main pahchanta hun…

Attitude shayari t

आसमां में परिंदे, जमीं पे उड़ाने वाले रहते हैं…
खंजर खाने वाले सामने आते हैं, चलाने वाले पीछे ही रहते हैं…
Asamaan mein parinde, jameen pe udane vaale rahte hain…
Khanjar khane vale samne aate hain, chalne vaale peechhe hi rahte hain…

2 Line Attitude Shayari

मैं नहीं चाहता के कोई मुझे समझें
आपने आप में ही मैं बहोत खुश हूं !
Main nahin chahta ke koi mujhe samajhen
Apne aap mein hi main bahot khush hoon !

Attitude shayari

खूबियों का मुझे पता नहीं
पर कमियाँ मुझमें बहोत हैं !
Khubiyon ka mujhe pata nahin
par kamiyaan mujhmen bahot hain !

Attitude shayari

जल के खाक हो जाऊं, ऐसी आग में खुद को कभी झोंका नहीं…
जिसको जाना हो मेरी जिंदगी से चला जाए, आजतक मैंने किसी को रोका नहीं…
Jal ke khaak ho jaun, aisee aag mein khud ko kabhee jhonka nahin…
Jisko jaana ho meri jindagi se chala jae, aajtak maine kisi ko roka nahin…

Attitude shayari

पता नहीं मैं तुम्हारी नजरों में कैसा लगता हूं…
अपनी नजरों में मुझे मैं तो बहोत अच्छा लगता हूं…
Pata nahin main tumhari najaron mein kaisa lagta hoon…
Apni najron mein mujhe main to bahot achchha lagta hoon…

Attitude shayari

गलियों की तरफ मैं अपना रास्ता नहीं मोडूंगा…
जो मेरे साथ खड़ा है, मैं उसका साथ कभी नहीं छोडूंगा…
Anjani galiyon kee taraf main apna raasta nahin modunga…
Jo mere saath khada hai, main uska saath kabhi nahin chhodunga…

Attitude shayari

गैरों से नहीं मैं खुद से लड़ रहा हूं…
जो मेरा है मुझे मिलेगा, यही सोच से आगे बढ़ रहा हूं…
Gairon se nahin main khud se lad raha hoon…
Jo mera hai mujhe milega, yahi soch se aage badh raha hoon…

Instagram Attitude Shayari

जहां मेरे लिए कुछ नहीं है, मैं वहां जाने से इंकार करता हूं…
गैरों से मुझे कोई लेना देना नहीं है, मैं सिर्फ अपनों से प्यार करता हूं…
Jahaan mere lie kuchh nahin hai, main vahaan jaane se inkaar karata hoon…
Gairon se mujhe koee lena dena nahin hai, main sirf apanon se pyaar karata hoon…

Attitude shayari

जो बातें मुझसे जुडी हैं, वो मैं दूसरों से नहीं कहता…
जहां से सिर्फ खुशियाँ दिखाई देती हैं, मैं वहां ज्यादा देर नहीं रहता…
Jo baaten mujhse judee hain, vo main dusaron se nahin kahata…
Jahaan se sirf khushiyaan dikhaee deti hain, main vahaan jyada der nahin rahata…

Attitude shayari

मैं वो नशा हूं, जिसे तुम उतार नहीं पाओगे…
कुछ वक्त तुम मेरे साथ रह सकते हो, जिंदगी नहीं गुजार पाओगे…
Main vo nasha hun, jise tum utaar nahin paoge…
Kuchh vakt tum mere saath rah sakate ho, jindagi nahin gujaar paoge…

Attitude shayari

मैं पागल सा हूं, तुम ये बात जान लो…
मेरे बारे में जो तुमसे कह रहे हैं, तुम उनकी बात मान लो…
Main paagal sa hoon, tum ye baat jaan lo…
Mere baare mein jo tumse kah rahe hain, tum unki baat maan lo…

Attitude shayari

गुजरे हुए लम्हों को हर वक्त मैं याद करूंगा…
जो तुम मेरे साथ करोगे, वही मैं तुम्हारे साथ करूंगा…
Gujare hue lamhon ko har vakt main yaad karunga…
Jo tum mere saath karoge, vahee main tumhaare saath karuga…

Attitude Shayari For Boys

ये दुनिया बड़ी जालिम है, मैंने भी माना है…
पर तबसे मुझे फर्क नहीं पड़ता, जबसे मैंने खुद को जाना है…
Ye duniya badi jaalim hai, maine bhi maana hai…
Tabse mujhe fark nahin padta, jabse maine khud ko jaana hai…

Attitude shayari

जिसे मैं पसंद हूं, वो मेरे करीब आ सकता है…
और जिसे मुझसे दूर जाना हो, वो जा सकता है…
Jise main pasand hoon, vo mere kareeb aa sakata hai…
Aur jise mujhse door jaana ho, vo ja sakta hai…

Attitude shayari

जो मेरे करीब हैं, उनकी बातों से मैं उन्हें समझता हूं…
अकेले रहने की आदत है मुझे, इसलिए सबको पसंद नहीं आता हूं…
Jo mere kareeb hain, unki baaton se main unhen samajhata hoon…
Akele rahane kee aadat hai mujhe, isalie sabko pasand nahin aata hoon…

Attitude shayari

मैं अकेला ही ठीक हूं, हर रोज खुद से कहता हूं…
जो बार-बार ना बिछड़ने की बात करते हैं, उनसे मैं थोड़ा दूर ही रहता हूं…
Main akela hee theek hoon, har roj khud se kahata hoon…
Jo baar-baar na bichhadne kee baat karate hain, unase main thoda door hee rahata hoon…

Attitude shayari

और भी बहुत कुछ है, सिर्फ इश्क का जाम क्यूँ पिऊं…
जो मेरा नहीं है, फिर मैं उसका होके क्यूँ जीऊं…
Aur bhi bahut kuchh hai, sirf ishk ka jaam kyun piun…
Jo mera nahin hai, phir main usaka hoke kyun jeeun…

Zindagi Attitude Shayari

आंख बंद करके किसी पर विश्वास कर सकूँ, कोई मेरे इतना करीब नहीं है…
आस-पास के लोगों को समझने के बाद, मुझे भी किसी से कोई उम्मीद नहीं है…
Aankh band karke kisi par vishwaas kar sakoon, koee mere itana kareeb nahin hai…
Aas-paas ke logon ko samajhne ke baad, mujhe bhi kisi se koi ummeed nahin hai…

Attitude shayari

जो जख्म भी देके जाएगा, तो भी मुझे चलेगा…
मैं भी उसे बुला दूंगा, बस थोड़ा वक्त लगेगा…
Jo jakhm bhi deke jaega, to bhi mujhe chalega…
Main bhi use bula dunga, bas thoda vakt lagega…

हर कोई मुझे समझ नहीं पाता….
क्योंकि दूसरों के लिए मुझे खुद को बदलना नहीं आता…
Har koi mujhe samajh nahin paata…
Kyonki dusaron ke lie mujhe khud ko badalana nahin aata….

जब कोई बात सताती है, खुद को अकेला कर लेता हूं…
जहां जाना पसंद नहीं है, वहां जाने से इंकार कर देता हूं…
Jab koi baat satato hai, khud ko akela kar leta hun…
Jahaan jaana pasand nahin hai, vahaan jaane se inkaar kar deta hun…

अपना सब कुछ मैं गैरों पर नहीं लुटा सकता…
औरों की खुशी के लिए, अपनों को नहीं भुला सकता…
Apana sab kuchh main gairon par nahin luta sakta…
Auron kee khushi ke lie, apanon ko nahin bhula sakta…

Shayari, Attitude English

जिसे मैं अपना नहीं लगता, उससे मैं भी दूर रह लूंगा…
पर जो मेरी तरफ आता दिखाई देगा, उसे मैं अपनी ओर खींच लूंगा..
Jise main apna nahin lagta, usase main bhi door rah lunga…
Par jo meri taraf aata dikhai dega, use main apani or kheench lunga…

जिसको मेरी जिंदगी से जाना हो, शौक से चले जाना…
बस हाथ जोड़ के मेरी विनती है, दोबारा मत आना…
Jisko meri jindagi se jaana ho, shauk se chale jaana…
Bas haath jod ke meri vinti hai, dobaara mat aana…

आंखों से आंसू अब नहीं निकलते, क्योंकि मैं बड़ा हो गया हूँ …
लोगों से धोखा खा खाके, मैं अपने साथ खड़ा हो गया हूँ …
Aankhon se aansoo ab nahin nikalate, kyonki main bada ho gaya hu…
Logon se dhokha kha khaake, main apane saath khada ho gaya hu..

वो छुपा के रखते हैं, उनकी जो असली सूरत है…
ना कोई मेरे करीब है और ना ही मुझे किसी की जरूरत है…
Vo chhupa ke rakhte hain, unaki jo asali surat hai…
Na koi mere kareeb hai aur na hi mujhe kisi ki jarurat hai…

पीछे जाने वाले रास्ते पर मैं नहीं हूं…
आगे का मुझे पता नहीं, पर यहां तक मैं सही हूं…
Peechhe jaane vaale raaste par main nahin hun…
Aage ka mujhe pata nahin, par yahaan tak main sahi hun…

ऐटिटूड शायरी इन हिंदी

तुम्हें जिससे मिलना है, तुम मिलते रहो…
जिस दिन मैं किसी अपने से मिलूंगा, उसे जाने नहीं दूंगा…
Tumhen jisse milana hai, tum milte raho…
Jis din main kisi apane se milunga, use jaane nahin dunga…

जिनकी आंखों में मैं बहुत बुरा हूं…
उनकी आधी अधूरी जिंदगी में मैं पूरा हूं..
Jinki aankhon mein main bahut bura hun…
Unki aadhi adhoori jindagi mein main poora hun…

किसी और को खुश करने से बढ़ कर मेरे लिए और कुछ भी नहीं…
अगर किसी को हंसा नहीं सकता हूं, तो किसी को रुलाऊंगा भी नहीं…
Kisi aur ko khush karne se badh kar mere lie aur kuchh bhi nahin…
Agar kisi ko hansa nahin sakta hun, to kisi ko rulaunga bhi nahin…

मैंने हजारों गलतियां की हैं, मैं ये बात मानता हूं…
किसकी नजरों में मैं कैसा हूं, मैं ये भी जानता हूं…
Maine hajaaron galtiyaan ki hain, main ye baat maanta hun…
Kiski najaron mein main kaisa hun, main ye bhi jaanta hun…

मुझे ना समझने वालों के साथ मैं आगे नहीं बढ़ सकता…
मेरे बारे में कौन क्या सोचता है, मुझे इससे फर्क नहीं पड़ता…
Mujhe na samjhne vaalon ke saath main aage nahin badh sakta…
Mere baare mein kaun kya sochata hai, mujhe isse fark nahin padta…

ऐटिटूड शायरी

कभी वो अपने दिल का हाल सुनाएं, कभी मैं अपने दिल की बात कह सकूं…
मुझे अपनी जिंदगी में सिर्फ वही लोग चाहिए, जिनके साथ मैं पूरी जिंदगी रह सकूं…
Kabhi vo apne dil ka haal sunaen, kabhi main apane dil ki baat kah sakoon…
Mujhe apanee jindagi mein sirf vahi log chaahie, jinke saath main poori jindagi rah sakun…

दूसरों के टूटते रिश्तो को भी मैंने ठीक किया है…
और अपनों को कैसे खुश रखते हैं, इतना तो सीख लिया है…
Dusaron ke tootte rishto ko bhi maine theek kiya hai…
Aur apanon ko kaise khush rakhte hain, itna to seekh liya hai…

दूसरों के तौर-तरीकों को मैं अपनी जिंदगी में नहीं अपनाता…
और कोई मेरी जिंदगी में दखलअंदाजी करे, मैं ऐसा भी नहीं चाहता…
Dusaron ke taur-tareekon ko main apani jindagi mein nahin apnata…
Aur koi meri jindagi mein dakhalandaji kare, main aisa bhi nahin chahta… ( Attitude Shayari )

जो मुझसे दूर जाएगा, फिर वो भी मेरे करीब नहीं होगा…
मेरे साथ खड़े रहने वालों का मैं साथ छोड़ दो, ऐसा कभी नहीं होगा…
Jo mujhse door jaega, phir vo bhi mere kareeb nahin hoga…
Mere saath khade rahne vaalon ka main saath chhod do, aisa kabhi nahin hoga…

तुम से कहीं ज्यादा मैं आप हूं…
अंदर बाहर दोनों तरफ से मैं साफ-साफ हूं…
Tum se kaheen jyaada main aap hun…
Andar baahar donon taraf se main saaf-saaf hun…

तेवर शायरी

अपनों के साथ रहना है, गैरों के लिए रोना नहीं है…
खुद से ज्यादा मुझे कभी किसी और का होना नहीं है…
Apanon ke saath rahna hai, gairon ke lie rona nahin hai…
Khud se jyaada mujhe kabhi kisi aur ka hona nahin hai…

जो पसंद नहीं आता, उसे सुनने का शौक नहीं है मुझे…
किसी बात को बार-बार बोलूं, ऐसी आदत भी नहीं है मुझे…
Jo pasand nahin aata, use sunane ka shauk nahin hai mujhe…
Kisi baat ko baar-baar bolun, aisi aadat bhi nahin hai mujhe…

कुछ तो है जो मुझसे छुपाया जा रहा है…
मैं उतना अच्छा नहीं हूं, जितना बताया जा रहा है…
Kuchh to hai jo mujhse chhupaaya ja raha hai…
Main utna achchha nahin hun, jitna bataya ja raha hai…

किसी का हक़ छीनने के लिए, मैं किसी से नहीं लड़ता…
दूसरों की बातों से मुझे कभी भी फर्क नहीं पड़ता…
Kisi ka haq chheenane ke lie, main kisi se nahin ladta…
Dusaron ki baaton se mujhe kabhi bhee phark nahin padta…

जहां भी जाता हूं, सिर्फ अपनी परछाई को साथ रखता हूं…
मैं आज जैसा भी हूं, मुझे मैं बहुत अच्छा लगता हूं…
Jahan bhi jaata hun, sirf apani parchhayi ko saath rakhata hun…
Main aaj jaisa bhi hun, mujhe main bahut achchha lagata hoon…

कभी किसी से

कभी किसी से उसकी खैरात नहीं लूंगा…
मेरे में औकात होगी, तो अपने लायक कुछ कर लूंगा…
Kabhi kisi se usakee khairaat nahin lunga…
Mere mein aukaat hogi, to apane laayak kuchh kar lunga..

खत्म हुई ख्वाहिशों को, मैं फिर नया ख्वाब दे रहा हूँ…
इस जमाने को भूल चूका हूँ, बस अपना साथ दे रहा हूँ…
Khatm hui khwahishon ko, mai phir naya khwab de rha hu…
Is jamane ko bhool chuka hu, bas apna sath de rha hu…


Spread the love

Leave a Comment