Dard Sad Shayari | Zindagi Dard Bhari Shayari

Spread the love

In this page you will read Dard Sad Shayari, Zindagi Dard bhari shayari, Hindi dard bhari shayari, Dard bhari shayari 2 line, hindi Dard sad Shayari etc…

Dard Sad Shayari

Dard sad shayari

मोहब्बत में जितने गम मिलेंगे, हम सब सह सकते हैं…
अगर तुम हमारे बगैर रह सकते हो, तो हम भी तुम्हारे बगैर रह सकते हैं…
mohabbat mein jitane gam milenge, ham sab sah sakate hain…
agar tum hamaare bagair rah sakate ho, to ham bhee tumhaare bagair rah sakate hain…

Dard sad shayari

उनसे बहोत प्यार करता था और उनपे बस मेरा हक़ था…
वही अब किसी और के हो चुके हैं, जिन्हें कभी मुझपे सक था…
Unase bahot pyaar karata tha aur unape bas mera haq tha…
Vahi ab kisi aur ke ho chuke hain, jinhen kabhee mujhape sak tha…

Dard sad shayari

मुझसे ना मिलना, तुम्हारी कोई मजबूरी है क्या…
मैं बिछड़ना नहीं चाहता हूं, फिर बिछड़ना जरूरी है क्या…
Mujhse na milna, tumhari koi majabori hai kya…
Main bichhadna nahin chaahata hoon, phir bichhadna jaruri hai kya…

Dard sad shayari

वो किसी और का प्यार है, कभी खुद से ज्यादा जिसपे हमें एतबार था…
वो नजर आतें हैं तो ठहर जाता हूं, क्या करें कभी हमें भी उनसे प्यार था…
Vo kisi aur ka pyaar hai, kabhi khud se jyaada jispe hamen etbaar tha…
Vo najar aaten hain to thahar jaata hoon, kya karen kabhee hamen bhee unase pyaar tha…

Dard sad shayari

चाह कर भी मिलने आ नहीं सकता, मेरे पास तुम्हारा पता नहीं है…
तुम्हें चाहना तो मेरी मजबूरी है, इसमें तुम्हारी कोई खता नहीं है…
Chaah kar bhee milne aa nahin sakta, mere paas tumhara pata nahin hai…
Tumhen chahna to meree majaboori hai, ismen tumhari koi khata nahin hai…

Dard Bhari Shayari

Dard sad shayari

मिल जा मुझे, अब तुझमे ही खोना है…
ना किसी से मिलना है और ना किसी का होना है…
mil ja mujhe, ab tujhame hee khona hai…
na kisee se milana hai aur na kisee ka hona hai…

Dard sad shayari

जब तुमने उसका जिक्र किया था, मैं खुद से रूठ गया था…
और उसने जब तुम्हारा हाथ पकड़ा था, मैं अंदर से टूट गया था…
Jab tumne uska jikra kiya tha, khud se ruth gya tha…
Aur usne jab tumhara hath pakda tha, mai andar se toot gya tha…

Dard sad shayari

अफ़सोस इस बात का नहीं है के वो मुझसे प्यार नहीं करता…
काश उसने पहले बताया होता, तो शायद आज मेरा भी कोई होता…
Afasos is baat ka nahin hai ke vo mujhse pyaar nahin karta…
Kaash usane pahale bataaya hota, to shaayad aaj mera bhi koi hota…

Dard sad shayari

तुमने मुझे छोड़ दिया, फिर भी मुझे तुमसे कोई गिला नहीं…
बस बात तुमने उनकी मान ली, जिनसे मैं कभी मिला नहीं…
Tumne mujhe chhod diya, phir bhee mujhe tumase koee gila nahin…
Bas baat tumne unaki maan li, jinse main kabhi mila nahin…

Dard sad shayari

वो जैसे चाहते थे, हम वैसा बन ना सके…
प्यार आँखों से बह गया, कभी लब्जो से कह ना सके…
Vo jaise chaahate the, ham vaisa ban na sake…
Pyaar aankhon se bah gaya, kabhi labjo se kah na sake…

Zindagi Dard Bhari Shayari

किसी से फरेब नहीं करता, मुझे भी साथ चलने वाले चाहिए थे…
मैं एक जगह ठहर जाता हूं, पर लोग उन्हें बदलने वाले चाहिए थे…
Kisi se fareb nhi karta, mujhe bhi sath chalne vale chahiye…
Mai ek jagah thahar jaata hun, par log unhe badalne vale chahiye…

खुशियां होने के बावजूद भी, आंखों में नमी रह गई…
खुद को उनके काबिल बना ना सका, बस यही एक कमी रह गई…
khushiyaan hone ke bavajood bhi, aankhon mein nami rah gayi…
khud ko unake kaabil bana na saka, bas yahee ek kami rah gayi…

Dard sad shayari

ये जरूरी भी तो नहीं है, के उनके दिल में सिर्फ हमीं हो…
मुझे भी खुद में ढूंढना चाहिए, क्या पता मुझमें ही कोई कमीं हो…
Ye jaruri bhi to nahin hai, ke unke dil mein sirf hami ho…
Mujhe bhi khud mein dhundhna chaahie, kya pata mujhmen hee koi kameen ho…

Dard sad shayari

तुमसे मोहब्बत करके किसी और का इंतजार नहीं किया था…
मैंने तुम्हारी रूह को छुआ था, तुम्हारे जिस्म से प्यार नहीं किया था…
Tumse mohabbat karke kisi aur ka intajaar nahin kiya tha…
Maine tumhari rooh ko chhua tha, tumhare jism se pyaar nahin kiya tha…

Dard sad shayari

उन्होंने वादे तो कई किये थे, पर उनसे एक भी निभाया ना गया…
पागल तो मैं ही था, जो उनके हर वादे जो सच मानता गया…
Unhone vaade to kai kiye the, par unse ek bhee nibhaaya na gaya…
Paagal to main hee tha, jo unake har vaade jo sach maanata gaya…

Hindi Dard Sad Shayari

Dard sad shayari

उसका प्यार पाने की बहोत कोशिश की, पर वो कभी मिला नहीं…
खुदा को ये बात पता थी, तभी वो मुझे कभी दिखा नहीं…
Uska pyaar paane ki bahot koshish ki, par vo kabhi mila nahin…
Khuda ko ye baat pata thee, tabhi vo mujhe kabhi dikha nahin…

Dard sad shayari

मैं तुमसे प्यार करता हूं, क्यूँकि मुझमें तुम्हारा फितूर है…
बस मुझे तुम एक बात बताओ, क्या सब मेरा ही कसूर है…
Mai tumse pyar karta hun, kyuki mujhme tumhara fitoor hai…
Bas mujhe tum ek baat batao, kya sab mera hi kasoor hai…

Dard sad shayari

प्यार हमने किया था, तो प्यार भी हमें ही जताना था…
वो किसी और का क्यूँ हो गया, उसे पहले सब कुछ मिटाना था…
Pyaar hamne kiya tha, to pyaar bhee hamen hee jataana tha…
Vo kisi aur ka kyun ho gaya, use pahle sab kuchh mitana tha…

Dard sad shayari

ख्वाहिश सबकी पूरी हो ऐसा कभी हो सकता है क्या…
तू भी शायर बनना चाहता है, पर उनकी तरह हँसते हुए रो सकता है क्या…
khwaahish sabki poori ho aisa kabhi ho sakta hai kya…
too bhee shaayar banna chaahata hai, par unki tarah hansate hue ro sakata hai kya…

Dard sad shayari

दूसरा कोई ख्याल नहीं आता, जब उनकी आंखें नहीं सोती…
खफा तो वो आशिक होते हैं, उनकी मोहब्बत खफा नहीं होती…
Dusara koi khyaal nahin aata, jab unaki aankhen nahin soti…
Khafa to vo aashik hote hain, unki mohabbat khafa nahin hoti…

Zindagi Dard Sad Shayari

Dard sad shayari, dard bhari shayari

दूर मैं तुमसे जरूर हुआ हूं, पर दूर मैं तुमसे हुआ नहीं…
तुम्हारी यादें हमेशा मेरे साथ थी, जिनके बगैर मैं कभी रहा नहीं…
Door main tumse jaroor hua hun, par door main tumse hua nahin…
Tumhari yaaden hamesha mere saath thi, jinke bagair main kabhi raha nahin…

Dard sad shayari

जैसा तुम चाहते हो तुम्हारे साथ वैसे कोई नहीं करता…
सब कहने की बात है, कोई किसी के बिन नहीं मरता…
Jaisa tum chaahate ho tumhare saath vaise koee nahin karata…
Sab kahne ki baat hai, koi kisi ke bin nahin marta…

Dard sad shayari

चलते राह पे तुम उसका हाथ पकड़ लोगे…
जब उन्हें तुमसे मोहब्बत ही नहीं है, तो उन्हें पाकर भी क्या कर लोगे…
Chalate raah pe tum usaka haath pakad loge…
Jab unhen tumse mohabbat hee nahin hai, to unhen paakar bhi kya kar loge…

Dard sad shayari

ये मोहब्बत है जनाब, यूं ही किसी को नहीं मिल जाती…
दिन काटने को दौड़ते हैं, नींदे वही रातों को नहीं आती…
Ye mohabbat hai janaab, yoon hee kisee ko nahin mil jaati…
Din kaatne ko daudate hain, neende vahi raaton ko nahin aati…

Dard Sad Shayari

फासलों में मोहब्बत बंधती है, तो खुद से खफा हो जाते हैं…
हम उनसे कहते कुछ और हैं, समझ वो कुछ और जाते हैं…
Fasalon mein mohabbat bandhti hai, to khud se khapha ho jaate hain…
Ham unse kahate kuchh aur hain, samajh vo kuchh aur jaate hain…

हिंदी दर्द सैड शायरी

Dard sad shayari

मोहब्बत किया है तो दर्द भी सहना पड़ेगा…
जिसके साथ जीना चाहते हो, उसके बगैर भी रहना पड़ेगा…
Mohabbat kiya hai to dard bhee sahana padega…
Jiske saath jeena chaahate ho, usake bagair bhee rahana padega…

Dard sad shayari

मोहब्बत करके भी ये दिल खुश नहीं है…
उनके पास सब कुछ है, मेरे पास कुछ नहीं है…
Mohabbat karake bhi ye dil khush nahin hai…
Unke paas sab kuchh hai, mere paas kuchh nahin hai…

Dard sad shayari

किसी और को चाहने में कुछ गलत नहीं है…
बस हद से गुजर जाना सही नहीं है…
Kisi aur ko chahne men kuch galat nhi hai
Bas had se gujar jaana sahi nhi hai

Dard sad shayari

मोहब्बत से कुछ ना मिला, तो अब खुद से ही डर रहा हूं…
उन्हें भुलाना थोड़ा मुश्किल तो है, पर मैं कोशिश कर रहा हूं…
Mohabbat se kuchh na mila, to ab khud se hee dar raha hoon…
Unhen bhulana thoda mushkil to hai, par main koshish kar raha hoon…

Dard sad shayari

मैं मुस्कुराऊंगा पर ये दिल खुश नहीं होगा…
तुम पहले और आखिरी थे, तुम्हारे बाद अब और कोई नहीं होगा…
Main muskuraung par yai dil khush nahin hog…
Tum pahle aur aakhiri thi, tumhari baad ab aur koi nahin hoga..

Dard Sad Shayari 2 line

Dard sad shayari

तुमसे बिछड़ कर, मैं कभी जीना नहीं चाहता था…
इंतजार तुम्हारा ही था, किसी और का करना नहीं चाहता था…
Tumse bichhad kat, mai kabhi jeena nhi chahta tha…
Intejaar tumhara hi tha, kisi aur ka karna nhi chahta…

Dard sad shayari

तुम्हें इन आँखों से दूर रखूँगा, तो ठीक हो जाऊंगा…
तुम्हारे बगैर जीने में कुछ दिन लगेंगे, पर जीना सीख जाऊंगा…
Tumhe in aankho se door rakhunga, to theek ho jaunga
Tumhare bagair jeene me kuch din lagenge, par jeena seekh jaunga…

तुम्हारे गमों से मैं उलझता रहा, मुझे लगा तुम्हें भी मेरे जख्मों को सीना है…
तो मैं तुम्हें फिर अब क्यूँ रोकूं, जब तुम्हें मेरे बगैर ही जीना है…
Tumhare gamon se main ulajhta raha, mujhe laga tumhen bhi mere jakhmon ko seena hai…
To main tumhen phir ab kyun rokoon, jab tumhen mere bagair hi jeena hai…

Dard sad shayari

जिन्हें मांगा था हमने, वो किसी और के हो गए…
अब मंजिल भी नहीं रही और वो रास्ते भी खो गए…
Jinhe maanga tha hamne, vo kisi air ke ho gye
Ab manjil hi nhi rhi, aur vo raste bhi kho gye

Dard sad shayari

सबसे मुंह फेर लिया होगा, जब उसने उसे खोया होगा…
वो दर्द छुपा रहा होगा, कभी खुलकर नहीं रोया होगा…
Sabse munh pher liya hoga, jab usne use khoya hoga…
Vo dard chhupa raha hoga, kabhi khulakar nahin roya hoga…

2 लाइन दर्द शायरी

Dard sad shayari

तुम्हारे ना होने की वजह से ही, मेरी आंखों में नमीं है…
बाकी सब तो ठीक है, बस एक तुम्हारी ही कमीं है…
Tumhare na hone kee vajah se hee, meree aankhon mein namin hai…
Baaki sab to theek hai, bas ek tumhari hi kameen hai…

अपनी खुशियां तुम्हें देखे, तुम्हारे होठों पे मैं खिलना चाहता था…
हाथों में तुम्हारे अपने हाथ रख के, खुद से मैं मिलना चाहता था…
Apani khushiyaan tumhen dekhe, tumhare hothon pe main khilana chaahata tha…
Haathon mein tumhare apne haath rakh ke, khud se main milna chaahata tha …

जो मोहब्बत से दूर रहेगा, वो कुछ कर जाएगा…
जो इसके गले लगेगा, वो जीते जी मर जाएगा…
Jo mohabbat se door rahega, vo kuchh kar jaega…
Jo iske gale lagega, vo jeete ji mar jaega…

मैं ना रहूं जिस घर में, तुम उस घर को सजा लो…
बर्बाद मैं हो रहा हूं, तुम खुद को बचा लो…
Main na rahun jis ghar mein, tum us ghar ko saja lo…
Barbaad main ho raha hoon, tum khud ko bacha lo…

खामोश होता हूं तो तेरी आहट सुनाई देती है…
हाँ हर चेहरे में मुझे तू ही दिखाई देती है…
Khaamosh hota hoon to teri aahat sunayi deti hai…
Haan har chehare mein mujhe too hee dikhaee detee hai…

खत्म नहीं हुआ है

सब कुछ खत्म नहीं हुआ है, अभी भी कुछ बाकी है…
मैं अपनी नजरों में ठीक हूं, मेरे लिए इतना काफी है…
Sab kuchh khatm nahin hua hai, abhi bhi kuchh baaki hai…
Main apani najaron mein theek hoon, mere lie itana kaafi hai…

जिसे मोहब्बत पास में मिल जाएगी, वो भला फासलों को क्यूँ चाहेगा…
तुम भी ढूंढने की कोशिश करो, तुम्हें भी कोई मिल जाएगा…
Jise mohabbat paas mein mil jaegee, vo bhala faasalon ko kyun chaahega…
Tum bhi dhundhne ki koshish karo, tumhen bhi koi mil jaega…

बेइंतहा प्यार करने के बाद भी तुझे उसे खोना पड़ेगा…
मोहब्बत करने जा रहा है सोच ले, हँसते-हँसते रोना पड़ेगा…
Beintaha pyaar karne ke baad bhee tujhe use khona padega…
Mohabbat karne ja raha hai soch le, hansate-hansate rona padega…

देखते हैं उनके दिए जख्मों को मैं कब तक रखूंगा…
धोखा मुझे चेहरों से मिला, किताबें पढ़के क्या करूंगा…
Dekhte hain, unke diye jakhmon ko mai kab tak rakhunga
Dhoka mujhe chahron se mila hai, kitabe padhke kya karunga

खुद से नजरे मिला नहीं पाएगा, शर्म आएगी जख्म दिखाने में…
वो पल भर में सब छोड़ जाएगा, तुझे जमाने लगेंगे उसे भुलाने में…
khud se najare mila nahin paega, sharm aaegee jakhm dikhaane mein…
vo pal bhar mein sab chhod jaega, tujhe jamaane lagenge use bhulaane mein…

Bahut Dard Shayari

खुशबू वाले फूल तो उस कांटे में हैं…
जिसकी मोहब्बत पूरी है, वही आज घाटे में हैं…
khushaboo vaale fool to us kaante mein hain…
Jiski mohabbat poori hai, vahi aaj ghaate mein hain…

हजारों चेहरे देखे, पर एक उसी चेहरे को दिल दिया था मैंने….
वो बड़ा खुश लग रहा था, जब उसके गमों को अपना लिया था मैंने…
Hajaaron chehare dekhe, par ek usi chehare ko dil diya tha maine….
Vo bada khush lag raha tha, jab uske gamon ko apana liya tha maine…

अपनी मोहब्बत की वजह से मैं इधर- उधर लीक हूं…
तुम्हारे साथ पूरा होना चाहता था, पर अब अधूरा ही ठीक हूं..
Apani mohabbat ki vajah se main idhar- udhar leek hoon…
Tumhaare saath poora hona chaahata tha, par ab adhoora hee theek hoon..

कौन सच्चा है कौन झूठा है, मैं नहीं छांट सकता…
मेरी चाहते मेरे पास हैं, इन्हें इधर-उधर नहीं बांट सकता…
Kaun sachcha hai kaun jhootha hai, main nahin chhaant sakta…
Meri chaahate mere paas hain, inhen idhar-udhar nahin baant sakta…

तुम्हारी मोहब्बत जब तक आंखें खोलेंगी…
मेरी चाहतें तुमसे काफी दूर जा चुकी होंगी…
Tumhari mohabbat jab tak aankhen kholengi…
Meri chaahaten tumse kaafi door ja chuki hongi…

खोया है

क्या तुमने खोया है, क्या तुमको पाना है…
तुम्हारे बगैर हम ठीक हैं, फिर अब तुम्हें पास क्यूँ आना है…
kya tumne khoya hai, kya tumko paana hai…
Tumhare bagair ham theek hain, phir ab tumhen paas kyun aana hai…

जो दिल को भाए, भाई मेरे वो सब करना…
पर पहले खुद को बना लेना, उसके बाद ही मोहब्बत करना…
Jo dil ko bhae, bhai mere vo sab karna…
Par pahle khud ko bana lena, uske baad hee mohabbat karna…

मैं जिसके लिए तड़प रहा हूं, वो कहीं ना कहीं तो होगा…
मेरे लिए वही सब कुछ है, कहीं कोई उसका भी तो होगा…
Main jiske lie tadap raha hun, vo kaheen na kaheen to hoga…
Mere lie vahi sab kuchh hai, kaheen koi uska bhi to hoga…

रातें मेरी जगती हैं, ये बाहें भी बेताब हैं…
हाथों से तूने पानी पिलाया, पर लगा जैसे वो शराब है…
raaten meree jagatee hain, ye baahen bhee betaab hain…
haathon se toone paanee pilaaya, par laga jaise vo sharaab hai…

तुम होते तो मैं इस तरह ना टूटा होता…
मैं हमारे बारे में सोचता, खुद से ना रुठा होता…
Tum hote to main is tarah na toota hota…
Main hamare baare mein sochata, khud se na rutha hota…

Dard Shayari English

हाथ मेरे बाँध के वो गले मिलने को कह रहा है..
मैं कबसे लापता हूँ, वो मुझे भटकने को कह रहा है..
आँखें मेरी रो-रो के अब सूख गई हैं…
और वो मुझे कभी-कभी रोने को कह रहा है…
Haath mere baandh ke vo gale milane ko kah raha hai..
Main kabase laapata hoon, vo mujhe bhatakane ko kah raha hai..
Aankhen meree ro-ro ke ab sookh gayi hain…
Aur vo mujhe kabhi-kabhi rone ko kah raha hai…

मेरी माटी में कभी अपना रंग घोल के देखना…
सच की खुशबू आएगी, कभी सच बोल के देखना…
Meree maati mein kabhi apna rang ghol ke dekhaa…
Sach ki khushaboo aaegi, kabhi sach bol ke dekhna…

मेरी मोहब्बत पे सवाल मत कर,
भले ही तू मुझसे बात मत कर…


Spread the love

Leave a Comment