Feeling Sorry Shayari | Maafi Shayari | Sorry Shayari

Spread the love

In this page you will read feeling sorry shayari, sorry shayari for gf and bf, true love sorry shayari, i am sorry shayari, maafi shayari etc…

Feeling Sorry Shayari

Feeling sorry Shayari

तुम्हें पाके मैं सारा जहां पाऊंगा, जहां तुम मिलोगे मैं वहाँ आऊंगा…
एक तुम्हीं तो मेरे इतना करीब हो, तुम भी रूठ गए तो मैं कहां जाऊंगा…
Tumhe paake mai sara jahan paunga, jahan tum miloge mai vaha aaunga…
Ek tumhi to mere itna kareeb ho, tum bhi rutb gaye to mai kahan jaunga…

Feeling sorry shayari

एक तुम्हारे अलावा मैं कुछ याद नहीं करता…
जब तुम मुझसे खफा होते हो, तब मैं भी खुद से बात नहीं करता…
Tumhen paake main saara jahaan paunga, jahaan tum miloge main vahaan aaunga…
Ek tumhin to mere itna kareeb ho, tum bhi rooth gae to main kahaan jaunga…

Feeling sorry Shayari

जब मेरी कोई बात तुम्हें सताए, मेरी चाहतों को याद कर लिया करो…
गलती से कभी मुझसे कोई गलती हो जाए, तो माफ़ कर दिया करो…
Jab meri koi baat tumhe satae, meri chahton ko yaad kr liya karo..
Galti se kabhi koi galti ho jaye, to maaf kr diya karo…

Feeling sorry shayari

रात भर तुम्हारी याद सताती है, अगर ये आँखें सोई न हो…
हर रोज बस यही दुआ मांगता हूं, के हमारे बीच कोई न हो… ( Feeling sorry shayari )
Raat bhar tumhari yaad satati hai, agar ye aankhen soi na ho…
Har roj bas yahi dua mangta hun, ke hamaare beech koi na ho…

Feeling sorry shayari

बेसक तुम चाहे मुझसे हजारों सवाल करो…
मैं सॉरी हूँ, तुम पहले मुझे माफ़ करो…
Besak tum chahe mujhse hajaro saval karo…
Mai sorry hu, tum pahle mujge maaf kro…

Sorry shayari for gf

Feeling sorry shayari

मेरे दिल पे हाथ रख के, अपने बारे में जान लिया करो…
मैं जब भी कोई गलती करूँ, मुझे भी माफ़ कर दिया करो…
Mere dil pe hath rakh ke apne baare me jaan liya kro…
Mai jab bhi koi galti karu, mujhe bhi maaf kr diya kro…

Feeling sorry shayari

ये इश्क़ मेरा न जाने मुझे कहां ले जाएगा, चाहतों में मेरी नाम हमेशा तुम्हारा ही आएगा…
तुमसे अलग होके मैं अगर रहने की कोशिश भी करूँ, तो ये दिल मेरा ज्यादा दिन तक नहीं रह पाएगा…
Ye ishq mera na jaane mujhe kahaan le jaega, chaahaton mein meri naam hamesha tumhaara hi aaega…
Tumse alag hoke main agar rahne ki koshish bhi karoon, to ye dil mera jyaada din tak nahin rah paega…

Feeling sorry shayari

तुम्हारी चाहतें, मुझसे मोहब्बत मांग लेती हैं…
बस तुम्हारी ये खामोशियाँ मेरी जान लेती हैं…
Tumhari chahaten, mujhee mohabbat manag leti hain…
Bas tumhari ye khamoshi meri jaan leti hai…

Feeling sorry shayari

मैं अगर कुछ कह न पाया, तो क्या मेरे दिल का हाल जान जाओगे…
मैं अपने गुनाहों की माफ़ी मांगना चाहता हूं, क्या तुम मुझे माफ़ कर पाओगे…
Main agar kuchh kah na paaya, to kya mere dil ka haal jaan jaoge…
Main apane gunaahon ki maafi maangana chaahata hun, kya tum mujhe maaf kar paoge…

Feeling sorry shayari

जहां तक नजर जाती है, मुझे सिर्फ तुम नजर आते हो…
मैं अपनी गलती तो मान लेता हूँ, तुम अपनी क्यूँ छुपाते हो…
Jahan tak najar jaati hai, mujhe sirf tum najar aate ho…
Mai apni galti to maan leta hun, tum apni kyu chhupate ho…

Maafi shayari

Feeling sorry Shayari

गलती करने के बाद, उस गलती में प्यार का रंग भरा था मैंने…
और माफ़ करने वाला हमेशा बड़ा होता है, ये कहीं पढ़ा था मैंने…
Galati karane ke baad, us galti mein pyaar ka rang bhara tha maine…
Aur maaf karane vaala hamesha bada hota hai, ye kaheen padha tha maine…

एक तुम्हीं मेरे जहन में रहते हो, मेरा दूसरा कोई यार नहीं है…
बिना कोई गलती के तुम्हें सॉरी बोलता हूं, क्या ये प्यार नहीं है…
Ek tumhi mere jahan me rahte ho, mera dusara koi yaar nhi hai…
Bina koi galti ke tumhe sorry bolta hu, kya ye pyar nhi hai…

मैं कभी किसी और के बारे में न सोचूँ, तुम्हें भी बस मेरे दिल का रस्ता पता हो…
तुम बस मुझे अहसास करा देना, जाने अनजाने जब भी मुझसे कोई खता हो…
Main kabhi kisi aur ke baare mein na sochoon, tumhen bhi bas mere dil ka rasta pata ho…
Tum bas mujhe ahasaas kara dena, jaane anajane jab bhi mujhse koi khata ho…

जिन ख्वाबों में तुम्हें देखता हूं, उन्हें सजाने लगता हूं…
हां मैं अपनी मोहब्बत को, अपने सिरहाने रखता हूं…
Jin khwabon men tumhe dekhta hu, unhe sajane lagta hun
Han mai apni mohabbat ko, apne sirhane rakhta hun

प्यार आता है तो तुमसे जताता हूं, कोई गलती करता हूं तो तुम्हें मनाता हूं…
मेरी मोहब्बत पे तुम अपना हाथ रखो, मैं तुमसे बस इतना ही चाहता हूं…
Pyaar aata hai to tumse jatata hu, koi galti karta hun to tumhen manaa
ta hoon…
Meri mohabbat pe tum apna haath rakho, main tumse bas itna hi chaahta hoon…

True love Sorry shayari

तुम्हारे लिए जो सही है, तुम हमेशा वही चुनना…
अगर हमारा ये रिश्ता ख़राब हो जाए, तो सिर्फ अपने दिल की सुनना…
Tumhare liy jo sahi hai, tum hamesha vahi chunna…
Agar hamara ye rishta kharab ho jaye, to sirf apne dil ki sunna…

ये तुमने कैसे जान लिया, के मैं तुम्हारे साथ नहीं चल पाऊंगा…
हाँ, अगर जाने का मन बना लिया हैं, तो नहीं रोक पाऊंगा…
Ye tumne kaise jaan liya, ke main tumhare saath nahin chal paunga…
Haan, agar jaane ka man bana liya hain, to nahin rok paunga…

ना ही तुम्हें खो के मैं कुछ पाना चाहता हूं…
और ना ही तुम्हें छोड़ के कहीं और जाना चाहता हूं…
Na hi tumhe kho ke mai kuch pana chahta hun..
Aur na hi tumhe chhod ke kahin jaana chahta hun…

अब ये मुमकिन नहीं है, के मैं तुम्हें या तुम मुझे भूल जाओ…
बताओ मैं तुम्हें कितना प्यार दूँ, के तुम मुझसे कभी दूर न जाओ…
Ab ye mumkin nahin hai, ke main tumhen ya tum mujhe bhool jao…
Batao main tumhen kitna pyaar doon, ke tum mujhse kabhee door na jao…

तन्हाईंयां जब भी मेरा हाथ पकड़ेंगी, मुझे तुम्हारा खयाल ही आएगा…
मैं खुद को जब भी अकेला छोडूंगा, ये मुझे तुम्हारे पास ही ले जाएगा…
Tanhainyaan jab bhi mera haath pakdengi, mujhe tumhara khayaal hee aaega…
Main khud ko jab bhi akela chhodunga, ye mujhe tumhare paas hi le jaega…

Sad sorry shayari

एक तेरे सिवा मेरा कुछ नहीं है…
मैं तुझसे नाराज नहीं हूं, क्या तू मुझसे खुश नहीं है…
Ek tere siva mera kuch nhi hai…
Mai tujhse naraj nhi hun, kya tu mujhse khush nhi hai…

अब तुम्हारे साथ ही जीना, तुम्हारे साथ ही मर जाना है…
एक तुझसे अलग होके मुझे, कभी कहीं और नहीं जाना है…
Ab tumhare saath hi jeena, tumhare saath hi mar jaana hai…
Ek tujhse alag hoke mujhe, kabhi kahin aur nahin jaana hai…

तुम्हारा साथ मिला तो खुद को पहचान पाया हूं…
सिर्फ तुम्हारे बारे में सोचता हूं, जबसे तुम्हें थोड़ा जान पाया हूं…
Tumhara saath mila to khud ko pahachaan paaya hun…
Sirf tumhare baare mein sochata hun, jabse tumhen thoda jaan paaya hun…

मेरे हिस्से का प्यार, तुमने अपने होठों पे दबा रखा हैं…
प्यार तुम मुझसे करते हो, और मुझसे ही छुपा रखा है…
Mere hisse ka pyar, tumne apne hotho pe daba rakha hai…
Pyar tum mujhse karte ho, aur mujhse hi chhupa rakha hai…

मेरी चाहतों में बस नाम तुम्हारा है, क्या मेरा ये प्यार तुम्हें अच्छा नहीं लगता…
मैं एक तुम्हीं से बातें करना चाहता हूं, क्या तुम्हें मुझसे बातें करना अच्छा नहीं लगता…
Meri chahton mein bas naam tumhara hai, kya mera ye pyaar tumhen achchha nahin lagata…
Main ek tumheen se baaten karna chahta hun, kya tumhen mujhse baaten karna achchha nahin lagata…

Sorry shayari

मैं कुछ और कहता हूं, तुम कुछ और कहते हो…
तुम्हारे साथ मैं जीना चाहता हूं, और तुम मेरे बगैर रहते हो… ( Feeling sorry shayari )
Mai kuch aur kahta hun, tum kuch aur kahte ho…
Tumhare sath mai jeena chahta hun, aur tum mere bagair rahte ho…

Feeling sorry shayari

मेरी खुशियों को तुम्हें ही अपने पास रखना है…
मैं सॉरी बोला करूँ, तो तुम्हें भी मुझे माफ़ करना है…
Meri khushiyon ko tumhe hi apbe pass rakhna hai…
Mai sorry bola karun, to tumhe bhi mujhe maaf karna hai…

Feeling sorry shayari

मेरे दिल का हाल, मेरे दिल पे हाथ रख के जान जाओ…
कितने दिन से तुम्हें मनाने की कोशिश कर रहा हूं, अब तो मान जाओ…
Mere dil ka haal, mere dil pe haath rakh ke jaan jao…
Kitane din se tumhen manane ki koshish kar raha hun, ab to maan jao…

मुझे अपना बना के, खुद को तुमने मेरे नाम कर दिया…
तो अब मैं यही समझूँ न, के तुमने भी माफ़ कर दिया…
Mujhe apna bana ke, khud ko tumne mere naam kr diya…
To ba mai yahi samjhu na, ke tumne mujhe maaf kr diya…

मुझे नींद नहीं आई, तुम्हारी ही यादों ने मुझे जगाया है…
मेरे दिल ने जो खता की है, उसी के लिए माफ़ी माँगने आया है…
Mujhe neend nhi aai, tumhari hi yaadon ne mujhe jagaya hai…
Mere dil ne jo khata ki hai, usi ke liy maafi maangane aaya hai…

Feeling Sorry shayari

खुद से मैं जितने भी सवाल पूछता हूं…
जवाब में सिर्फ तुम्हारा ही नाम आता है…
Khud se mai jitne bhi saval puchta hun…
Javab me sirf tumhara hi naam aata hai…

हमारे बीच कभी कुछ ख़तम नहीं होगा, क्या तुम्हें ऐसा नहीं लगता…
तुम्हारा खफा होना पसंद है मुझे, मेरा मनाना क्या तुम्हें अच्छा नहीं लगता…
Hamare beech kabhi kuchh khatam nahin hoga, kya tumhen aisa nahin lagata…
Tumhara khafa hona pasand hai mujhe, mera manana kya tumhen achchha nahin lagata…

तुम्हारी रातों से जो होके गुजरे, मैं वो सुबह ढूँढूंगा…
तुम्हें जो अपना ना बना पाया, तो कमीं भी खुद में ही ढूँढूंगा…
Tumhari raaton se jo hoke gujare, main vo subah dhundhunga…
Tumhen jo apna na bna paaya, to kamin bhi khud mein hi dhundhunga…

तुम्हारी यादें मेरे साथ कुछ ऐसे रहती हैं…
बादलों के साथ जैसे हवाएं रहती हैं…
Tumhari yaade mere sath kuch aise rahti hain…
Baadlon ke sath jaise hawayen rahtin hain…


Spread the love

Leave a Comment