Love Shayari In Hindi | हिंदी लव शायरी | Love Shayari SMS

Spread the love

In this page you will read love shayari, love shayari in hindi, love romantic shayari English, best hindi love shayari, love shayari for gf/bf etc….

Love Shayari

Love Shayari

अपनी खामोशियों में, मैं बस एक तुम्हारी आवाज सुनता हूँ…
मेरी धड़कने भी मेरा साथ देती हैं, मैं जब तुम्हारे लिए अल्फाज चुनता हूँ…
Ye dil mera kuchh der ke lie thahar jaata hai…
Jab bhi tumhara ye khoobsurat chehara mujhe najar aata hai…

मेरे हो जाओ तुम, तुम्हें बेइंतेहा प्यार करूँगा…
जिस दिन तुमसे रुठुंगा, खुद से बात नहीं करूँगा..
Mere ho jao tumhe beinteha pyar karunga.
Jis din tumse ruthunga khid se baat nhi karunga…

अपने गुजरते हर एक पल में, मैं तुम्हें याद करता हूँ …
ये तो मुझे भी नहीं पता, के मैं तुमसे कितना प्यार करता हूं…
Apne gujarte har ek pal men, mai tumhe yaad karta hun…
Ye to mujhe bhi nhi pta, ke main tumse kitna pyar karta hun…

Love shayari

गमों से मैं रूठा नहीं हूँ, बस खुश होने की वजह चाहिए…
तुम्हारे दिल की किसी कोने में, मुझे अपने लिए थोड़ी जगह चाहिए…
Gamon se main rootha nahin hoon, bas khush hone kee vajah chaahie…
Tumhare dil kee kisee kone mein, mujhe apane lie thodee jagah chaahie…

तुम्हें देखता हूं तो लगता है, जैसे मैं तुमसे दूर कभी गया ही नहीं….
तुम हमेशा ही मेरे साथ थे, मैं तुम्हारे बगैर कभी रहा ही नहीं…
Tumhen dekhta hun to lagta hai, jaise main tumse door kabhi gaya hi nahin….
Tum hamesha hi mere saath the, main tumhare bagair kabhi raha hi nahin…

ये दिल मेरा कहीं मेरी तरह शायर ना बन जाए…
तुमसे कितना प्यार करता है, कहीं बताने बाहर ना आ जाए..
Ye dil mera kaheen meri tarah shaayar na ban jae…
Tumse kitna pyaar karta hai, kaheen batane baahar na aa jae..

Love Shayari In Hindi

Love shayari

जबसे तुम्हें जाना है, किसी और की तरफ मैंने देखा ही नहीं…
मोहब्बत एक बार करनी थी सो कर लिया, दोबारा करने का कभी सोचा ही नहीं…
Jabse tumhen jaana hai, kisee aur kee taraf maine dekha hee nahin…
Mohabbat ek baar karni thi so kar liya, dobara karne ka kabhi socha hee nahin…

मेरे ही हो, इस दिल को मैं बस यही हूँ समझाता…
तुम्हें अपना बनाना चाहता हूं, तुम्हारा बनके नहीं रहना चाहता…
Mere hee ho, is dil ko main bas yahi hun samjhata…
Tumhen ana banana chaahata hun, tumhara banke nahin rahana chaahata…

एक तुम्हारे सिवा मेरा और कोई नहीं है…
मुझमें तुम्हारा हक है, क्या तुम में मेरा नहीं है..
Ek tumhare siva mera aur koi nahin hai…
Mujhmen tumhara hak hai, kya tum mein mera nahin hai..

Love shayari

तुम्हें ऐसे देख के मन करता है, कुछ कर जाऊं..
अब इतनी भी खूबसूरत मत लगो, के देखते ही मैं मर जाऊं…
Tumhen aise dekh ke man karta hai, kuchh kar jaun..
Ab itani bhi khoobasurat mat lago, ke dekhte hee main mar jaun…

तुम हमें मिलो ना मिलो, हम अपनी यादों में तुमसे मिलते रहेंगे…
चाहे तुम्हें पसंद हो या ना हो, हम तुम्हारे बारे में लिखते रहेंगे..
Tum hamen milo na milo, ham apani yaadon mein tumse milte rahenge…
Chaahe tumhen pasand ho ya na ho, ham tumhare baare mein likhte rahenge..

तुम्हारे बगैर जीना मेरे लिए मुमकिन नहीं होगा…
पहली मोहब्बत जो पूरी ना हुई, फिर दोबारा किसी से नहीं होगा…
Tumhare bagair jeena mere lie mumakin nahin hoga…
Pahali mohabbat jo poori na huee, phir dobara kisi se nahin hoga…

Love Shayari

Love shayari

एक तुम्हें ही अपना माना है, अब पाके तुम्हें खोना नहीं चाहता…
तुम भी मुझे अपना बना लो, मैं भी किसी और का होना नहीं चाहता…
Ek tumhen hi apna maana hai, ab paake tumhen khona nahin chaahata…
Tum bhi mujhe apna bana lo, main bhi kisi aur ka hona nahin chaahata…

कभी दुआ में कुछ मांगते हैं, तो तुम्हें ही मांगते हैं…
कोई और हमें पहचानता नहीं, हम भी एक तुम्हीं को जानते हैं…
Kabhi dua mein kuchh maangte hain, to tumhen hee maangte hain…
Koi aur hamen pahachanata nahin, ham bhee ek tumheen ko jaanate hain…

तुम्हें तुमसे ज्यादा प्यार करने के लिए मैं हूं ना…
तुम जिसके बारे में जिक्र करती हो, वो मैं ही हूं ना…
Tumhen tumse jyaada pyaar karne ke lie main hoon na…
Tum jiske baare mein jikr karti ho, vo main hee hoon na…

Love shayari

तुम्हें भी मेरी खुशियों में अपनी राय रखनी होगी…
तुमसे जुडी हर के चीज, जब मेरी अपनी होगी…
Tumhen bhi meri khushiyon mein apni raay rakhni hogi…
Tumse judi har ke cheej, jab meri apni hogi…

मेरे जहन में कोई तुमसा नहीं है…
मुझे तुमसे मोहब्बत है, किसी और से नहीं है…
Mere jahan mein koi tumsa nahin hai…
Mujhe tumse mohabbat hai, kisi aur se nahin hai…

ये दिल मेरा कुछ देर के लिए ठहर जाता है…
जब भी तुम्हारा ये खूबसूरत चेहरा मुझे नजर आता है…
Ye dil mera kuchh der ke lie thahar jaata hai…
Jab bhi tumhara ye khoobasurat chehara mujhe najar aata hai…

2 line Love Shayari

Love shayari

कोई तुम्हें चाहे या तुम किसी और को चाहो, हमें ये मंजूर नहीं…
हम प्यार तुम्हीं से करते हैं, तुम्हीं के करेंगे, कभी किसी और से नहीं…
Koi tumhen chaahe ya tum kisi aur ko chaaho, hamen ye manjoor nahin…
Ham pyaar tumheen se karte hain, tumheen ke karenge, kabhi kisi aur se nahin…

तुम्हारा मुझसे नाराज होना भी मुझे अच्छा लगता है…
लगता है कोई तो है, जिसे मेरे होने ना होने से फर्क पड़ता है…
Tumhara mujhse naaraaj hona bhee mujhe achchha lagata hai…
Lagta hai koee to hai, jise mere hone na hone se fark padata hai…

ये दिल मेरा, मेरी चाहतों के आगे हार जाता है…
मैं जब भी मोहब्बत से दूर जाना चाहता हूँ, मुझे तुमसे प्यार हो जाता है…
Ye dil mera, meri chaahaton ke aage haar jaata hai…
Main jab bhi mohabbat se door jaana chahata hoon, mujhe tumse pyaar ho jaata hai…

Love shayari

प्यार में जो गलतियां मैंने की, वो मेरे लिए एक सीख है…
पर तुम्हारा यूँ रोज-रोज मुझे सताना, कहां तक ठीक है…
Pyaar mein jo galatiyaan mainne kee, vo mere lie ek seekh hai…
Par tumhaara yoon roj-roj mujhe sataana, kahaan tak theek hai…

लगता है जैसे वो मेरे हाथों की रेखा है…
जब-जब तुम्हारे हाथों को मैंने करीब से देखा है…
Lagata hai jaise vo mere haathon kee rekha hai…
jab-jab tumhaare haathon ko mainne kareeb se dekha hai…

मैं खुद से भी नहीं कर सकता, जितना मैंने तुमसे प्यार किया है…
ये तो बस मेरा खुदा ही जानता है, के मैंने सिर्फ तुम्हारा इंतजार किया है…
Main khud se bhi nahin kar sakfta, jitana maine tumse pyaar kiya hai…
Ye to bas mera khuda hi jaanata hai, ke mainne sirf tumhara intajaar kiya hai…

Love Shayari 2 Line

Love Shayari

दूसरों की बातों ने मुझपर कोई असर नहीं किया…
मेरी यादों में तुम हमेशा मेरे साथ थे, तुम्हारे बिना कभी कहीं सफर नहीं किया…
Dusaron ki baaton ne mujhpar koi asar nahin kiya…
Meree yaadon mein tum hamesha mere saath the, tumhare bina kabhi kaheen saphar nahin kiya…

मुझसे प्यार भी करती हो, मेरे बगैर भी रहती हो…
कभी मुझसे भी तो कहो, जो मेरी तस्वीरों से कहती हो…
Mujhase pyaar bhee karti ho, mere bagair bhee rahti ho…
Kabhi mujhse bhi to kaho, jo meri tasveeron se kahti ho…

मैं तुमसे प्यार करता हूं, तुम्हारा भी तो मुझ पे थोड़ा गौर है…
मेरे दिल में भी अब ना कोई और होगा, और ना कोई और है…
Main tumse pyaar karta hoon, tumhara bhee to mujh pe thoda gaur hai…
Mere dil mein bhee ab na koi aur hoga, aur na koi aur hai…

अब अगर तुमसे अलग हो जाऊंगा, तो साँसे कम हो जाएंगी…
मैं अगर दूरियाँ बढ़ाने जाऊंगा, तो नजदीयां और बढ़ जाएंगी…
Ab agar tumse alag ho jaunga, to saanse kam ho jaengi…
Main agar duriyaan badhane jaunga, to najdiyaan aur badh jaengi…

वो कहते हैं हम उनसे प्यार नहीं करते…
अब उन्हें कैसे बताए, दूसरा कोई काम नहीं करते हैं…
Vo kahte hain ham unse pyaar nahin karate…
Ab unhen kaise batae, dusara koi kaam nahin karte hain…

कोई मेरे बारे में पूछेगा, तो नाम तुम्हारा बताऊंगा…
तुम्हीं मेरा सबकुछ हो, तुम्हें खो के मैं क्या पाऊंगा…
Koi mere baare mein puchhega, to naam tumhara bataunga…
Tumheen mera sabkuchh ho, tumhen kho ke main kya paunga….

लव शायरी स्टेटस

तुम्हें मैं अपनी पलकों में रखता हूं, तुम्हारी ही फिकर करता हूं…
कोई मेरे बारे में पूछता है, तो तुम्हारा जीकर भी करता हूं…
Tumhen main apni palkon mein rakhta hoon, tumhari hi fikar karta hoon…
Koi mere baare mein puchhata hai, to tumhara jeekar bhi karta hoon…

खुद से जो कहता रहा, अब तुमसे कहना चाहता हूं…
मेरी मोहब्बत तुमसे शुरू हुई थी, एक तुम्हीं तक रखना चाहता हूं…
khud se jo kahata raha, ab tumse kahna chahta hoon…
Meri mohabbat tumae shuru huee thi, ek tumhin tak rakhna chahata hoon…

तुम मुस्कुराती हो, तो फिर मैं भी हस पड़ता हूँ…
मेरी पहली पसंद हो तुम, इसीलिए खुद से ज्यादा प्यार करता हूँ…
Tum muskurati ho, to phir main bhee has padata hoon…
Meri pahali pasand ho tum, iseelie khud se jyaada pyaar karata hoon…

न जाने दिन भर में, याद तुम्हें कितनी बार करता हूं…
तुमसे ज्यादा, मैं अब तुमसे प्यार करता हूं…
Na jaane din bhar mein, yaad tumhen kitni baar karta hoon…
Tumse jyaada, main ab tumse pyaar karta hoon….

कहीं भी, कभी भी तुम मुझे याद आ जाती हो…
क्या हर जगह, तुम भी मुझे साथ ले जाती हो…
Kahin bhi, kabhi bhi tum mujhe yaad aa jaati ho…
Kya har jagah, tum bhi mujhe saath le jaati ho…

जिन खुशियों के पीछे मैं भाग रहा हूं, तुमने भी उनके बारे में कुछ तो सोचा ही होगा…
और हमारे इस रिश्ते को तुम जो नाम दोगे, वो तो हमेशा खूबसूरत ही होगा…
Jin khushiyon ke peechhe main bhaag raha hoon, tumane bhee unake baare mein kuchh to socha hi hoga…
Aur haaare is rishte ko tum jo naam doge, vo to hamesha khoobasurat hi hoga…

Love Shayari SMS

तुम्हें अपनी नजरों के पास रखना चाहता हूँ, क्योंकि तुम्हें खोने से डरता हूं ना…
हो सकता है तुम्हें मुझसे मोहब्बत ना हो, पर मैं तो तुमसे प्यार करता हूं ना…
Tumhen apanee najaron ke paas rakhana chaahata hoon, kyonki tumhen khone se darata hoon na…
Ho sakta hai tumhen mujhse mohabbat na ho, par main to tumse pyaar karta hoon na…

तुम्हारे बगैर मेरा दिल कभी नहीं रहा…
पर होठों से मैंने तुमसे आजतक कुछ नहीं कहा…
Tumhaare bagair mera dil kabhi nahin raha…
Par hothon se maine tumse aajtak kuchh nahin kaha…

मेरे अपने चाहे मेरे खिलाफ हो जाएं, पर तुम हमेशा मेरे साथ रहना…
अपने अकेलेपन में मैं तुम्हें महसूस कर सकूँ, बस मेरे इतने पास रहना…
Mere apane chaahe mere khilaaf ho jaen, par tum hamesha mere saath rahna…
Apane akelepan mein main tumhen mahsoos kar sakun, bas mere itne paas rahna…

जो मेरी नजरों में सही नहीं है, उस बात से दिल मेरा नाराज हो जाता है…
पर नाराजी ख़तम होने के बाद, मुझे तुमपे प्यार भी बहोत आता है…
Jo meree najaron mein sahi nahin hai, us baat se dil mera naaraaj ho jaata hai…
Par naarajgi khatam hone ke baad, mujhe tumpe pyaar bhi bahot aata hai…

मेरी छोटी-बड़ी तकलीफो पे तुम अपने हाथ रखना…
हालात मेरे जैसे भी हों, खुद को हमेशा मेरे आस-पास रखना…
Meri chhotee-badee takleefo pe tum apane haath rakhna…
Haalaat mere jaise bhee hon, khud ko hamesha mere aas-paas rakhna…

बारिशें जब आती हैं, तुमसे मिलने की ख्वाहिश अपने साथ लाती हैं…
हवाएं जब मुझे छू के गुरती हैं, कुछ देर के लिए साँसे थम सी जाती हैं…
Baarishen jab aatee hain, tumse milne kee khwahish apane saath laati hain…
Hawaen jab mujhe chhoo ke gurti hain, kuchh der ke lie saanse tham see jaatee hain…

शायरी ऑन लव

जो तुम्हारे बारे में पूछ रहे हैं, उन्हें हमारे बारे में बता दूँ क्या…
तुम्हारे बिन कितने दिन गुजारे हैं, एक-एक करके उन्हें गिना दूं क्या…
Jo tumhare baare mein poochh rahe hain, unhen hamare baare mein bata doon kya…
Tumhare bin kitne din gujaare hain, ek-ek karke unhen gina doon kya…

जिन लम्हों को मैं खुल के जिया हूं, तुम्हारे लिए भी वो खाश हैं ना…
वो यादें जो मेरे दिल से निकली नहीं, तुम्हें भी वो याद हैं ना…
Jin lamhon ko main khul ke jiya hoon, tumhare lie bhi vo khaash hain na…
Vo yaaden jo mere dil se nikalee nahin, tumhen bhee vo yaad hain na…

मेरे दिल को सुकून दे जाता है, तुम्हारा यूँ मुस्कुराना…
मोहब्बत के सारे वो वादे, अब तुम्हारे साथ ही है निभाना…
Mere dil ko sukoon de jaata hai, tumhaara yoon muskurana…
Mohabbat ke saare vo vaade, ab tumhare saath hee hai nibhana…

मैं तुम्हारी ज़िद के आगे हार जाता हूं…
अपने दिल पे हाथ रख के, तुम्हारा हाल जान जाता हूँ…
Main tumhari zid ke aage haar jaata hoon…
Apane dil pe haath rakh ke, tumhara haal jaan jaata hoon…

कुछ ऐसा करो जिससे, हम तुम्हारे और करीब आ जाए…
तोड़ देंगे सारे जंजीरें, बस एक बार तुम्हें भी प्यार हो जाए…
Kuchh aisa karo jisse, ham tumhare aur kareeb aa jae…
Tod denge saare janjire, bas ek baar tumhen bhee pyaar ho jae…

उनकी खुशियाँ मेरी कमजोरी बन गई…
मैं जितना उनके करीब जाना चाहता था, उतनी ही हम में दूरी हो गई…
Unki khushiyaan meree kamjori ban gaee…
Main jitna unake kareeb jaana chaahata tha, utanee hee ham mein duri ho gaee…

Dil Se SMS love Shayari

मोहब्बत से मैं बड़ी दूर था, अपने आप में रहने को मजबूर था…
जब तक मैं तुमसे नहीं मिला था, खुशियों से मैं कोसो दूर था…
Mohabbat se main badi door tha, apne aap mein rahne ko majboor tha…
Jab tak main tumse nahin mila tha, khushiyon se main koso door tha…

किसी और को ख्वाबों में कैसे लाता, जब किसी और के लिए ये दिल धड़का ही नहीं…
हर बार तुम्हें देख के ये ऐसे धड़कता है, जैसे पहले कभी धड़का ही नहीं….
Kisi aur ko khwaabon mein kaise laata, jab kisi aur ke lie ye dil dhadka hi nahin…
Har baar tumhen dekh ke ye aise dhadkata hai, jaise pahale kabhi dhadka hi nahin….

जब तुमपे प्यार आता है, तुमसे इजहार करता हूं…
हाँ तुम्हीं वो शख्स हो, जिसे खुद से ज्यादा मैं प्यार करता हूं…
Jab tumpe pyaar aata hai, tumse ijhaar karta hoon…
Haan tumheen vo shakhs ho, jise khud se jyaada main pyaar karta hoon…

ये मेरी मोहब्बत है, कोई नुमाइश नहीं है…
जब से तुम्हें जाना है, किसी और चीज की ख्वाहिश नहीं है…
Ye meri mohabbat hai, koi numaish nahin hai…
Bab se tumhen jaana hai, kisi aur cheej kee khwaahish nahin hai…

तबसे मैंने तुम्हारा ही इंतजार किया है…
जबसे तुम्हें जाना है, और तुमसे प्यार किया है…
Tabse maine tumhara hi intejaar kiya hai…
Jabse tumhe jaana hai, aur tumse pyar kiya hai…

गैरों से बातें करके, हमें मत जलाया करो…
जब हम तुमसे बात करें, तो जहां को भूल जाया करो…
Gairo se baaten karke, hame mat jalaya karo…
Jab ham tumse baat kare, to jahan ko bhool jaya karo…

कुछ लब्ज मुझसे उधार लेके

कुछ लब्ज मुझसे उधार लेके, अपने दिल की बात मुझसे कह दो…
अगर आँखों में आँखें डाल के नहीं कह सहते, तो इशारों से कह दो…
Kuchh labj mujhse udhaar leke, apane dil kee baat mujhase kah do…
Agar aankhon mein aankhen daal ke nahin kah sahte, to ishaaron se kah do…

मैं अपने दिल की बातें तुमसे कह नहीं पाता…
पर जब भी तुम्हें देखता हूं, फिर कुछ नजर नहीं आता…
Main apne dil kee baaten tumse kah nahin paata…
Par jab bhi tumhen dekhata hoon, phir kuchh najar nahin aata…

ये दिल मेरा, तुम्हारा गुनहगार हो जाएगा…
तुम थोड़ा मुझसे दूर रहो, वरना मुझे तुमसे प्यार हो जाएगा…
Ye dil mera, tumhara gunahgaar ho jaega…
Tum thoda mujhse door raho, varana mujhe tumse pyaar ho jaega…

मेरी परछाई फिर मेरा ही साथ देने से कतराती हैं…
जब भी तुमसे बिछड़ने के बारे में सोचता हूं, साँसे थम जाती हैं…
Meri parchhai phir mera hee saath dene se katarati hain…
Jab bhi tumse bichhadne ke baare mein sochata hoon, saanse tham jaati hain…

एक प्यार ही है जो सबके हिस्से में नहीं आता है…
जिसे प्यार कभी मिला नहीं होता है, इसे बस वही निभाता है….
Ek pyaar hi hai jo sabke hisse mein nahin aata hai…
Jise pyaar kabhi mila nahin hota hai, ise bas vahee nibhaata hai….

काफी दिन हो

काफी दिन हो गए हैं, तुम्हारा दीदार किये हुए…
मेरा वो इजहार करना और तुम्हारे इंकार किये हुए…
Kaafi din ho gae hain, tumhara didaar kiye hue…
Mera vo ijhaar karna aur tumhare inkaar kiye hue…

बहोत कुछ तो है, जो हमें एक दूसरे से अलग नहीं कर रहा…
हम एक-दूसरे से मिलना चाहतें हैं, मिलाने वाला समझ नहीं रहा…
Bahot kuchh to hai, jo hamen ek dusare se alag nahin kar raha…
Ham ek-dusare se milna chahaten hain, milane vaala samajh nahin raha…

मेरे करीब आना क्या तुम्हें अच्छा नहीं लगता…
जब तक मैं तुम्हें ना देखूँ, मुझे तो कुछ अच्छा नहीं लगता…
Mere kareeb aana kya tumhen achchha nahin lagta…
Jab tak main tumhen na dekhun, mujhe to kuchh achchha nahin lagta…

यूं चुप ना रहो, जो मन में हो कह दो…
गर होठों से नहीं कह सकते, तो इशारों से कह दो…
Yun chup na raho, jo man mein ho kah do…
Gar hothon se nahin kah sakte, to isharon se kah do…


Spread the love

Leave a Comment