Sad Shayari In Hindi | हिंदी सैड शायरी | Sad Shayari SMS

Spread the love

In this page you will read sad shayari, sad shayari in hindi, love Sad Shayari, breakup sad Shayari, सैड शायरी etc…

Sad Shayari

Sad shayari

मैं जानता हूं के मेरे हाथों में तेरा हाथ नहीं है…
पर मैं खुद को यकीन नहीं दिलाना चाहता, के तू मेरे साथ नहीं है…
Main jaanata hun ke mere haathon mein tera haath nahin hai…
Par main khud ko yakeen nahin dilana chaahata, ke tu mere saath nahin hai..

हमारे बीच कई दीवारें आके खड़ी हो गईं हैं…
कल तक जो बातें छोटी थीं, लगता है आज बड़ी हो गईं हैं…
Hamaare beech kai diwaren aake khadi ho gayin hain…
Kal tak jo baaten chhoti thin, lagata hai aaj badi ho gayin hain…

तेरे बढ़ते क़दमों ने तुझे कभी रोका है क्या…
तूने मेरा दिल क्यों तोड़ दिया, तेरा भी किसी ने तोड़ा है क्या…
Tere badhate qadmon ne tujhe kabhi roka hai kya…
Tune mera dil kyon tod diya, tera bhi kisi ne toda hai kya…

ना मोहब्बत हुई होती तो तेरा पता ना पूछते…
सिर्फ अपना देखते, तेरे बारे में कभी ना सोचते…
Na mohabbat hui hoti to tera pata na puchhte…
Sirf apana dekhte, tere baare mein kabhi na sochte…

बिछड़ना नहीं चाहता था, फिर गम जुदाई का आ गया…
वो मेरी आंखों से उतरा नहीं, जो किसी और की नजरों में छा गया…
Bichhadna nahin chaahata tha, phir gam judaee ka aa gaya…
Vo meri aankhon se utara nahin, jo kisi aur kee najaron mein chha gaya…

उससे बहोत प्यार करता था और उसपे बस मेरा हक़ था….
वही अब किसी और का हो चुका है, जिसे कभी मुझपे सक था….
Usse bahot pyar krta tha, uspe bas mera haq tha..
Vahi ab kisi aur ka ho chuka hai, jise kabhi mujhpar sak tha…

Sad Shayari in Hindi

Sad Shayari

वो जैसे चाहते थे हम वैसा बन ना सके…
प्यार आंखों से बह गया, कभी लफ्जों से कह ना सके…
Vo jaise chahte the, vaisa ban na sake…
Pyar aankho se bah gya, kabhi labjo se kah na sake…

खुद को भुला बैठे थे और सिर्फ तुम्हारे में ही सोच रहे थे…
तुम्हारे दिल के किसी कोने में, हमें अपने आप को देख रहे थे…
Khud ko bhula baithe the aur sirph tumhaare mein hee soch rahe the…
Tumhare dil ke kisi kone mein, hamen apne aap ko dekh rahe the…

जितने जख्म जिंदगी से मिले हैं, हम वो सारे जख्म सह लेंगे…
जिनके बगैर कभी जीना नहीं चाहते थे, अब उनके बगैर भी रह लेंगे…
Jitane jakhm jindagi se mile hain, ham vo saare jakhm sah lenge…
Jinke bagair kabhi jeena nahin chaahate the, ab unake bagair bhi rah lenge…

हम तुमसे प्यार करते हैं, पर अब नहीं जतायेंगे…
कभी जानना हो तो चले आना, तुम्हारे अलावा किसी और कोई नहीं बतायेंगे…
Ham tumse pyaar karte hain, par ab nahin jatayenge…
Kabie jaanna ho to chale aana, tumhare alaava kisi aur koi nahin batayenge…

मैं उससे एक बात पूंछना चाहता हूं, पर कभी पूँछ नहीं पाया…
वो मुझे अपना हमसफ़र कहता था, फिर मेरे साथ चल क्यूं नहीं पाया…
Main usse ek baat punchhana chaahata hoon, par kabhee poonchh nahin paaya…
Vo mujhe apna hamsafar kahta tha, phir mere saath chal kyun nahin paaya…

हमारे साथ उसने क्या किया, ये हम किसी से नहीं कहेंगे..
उसे जितना याद करना था कर लिया, अब शायद नहीं करेंगे…
Hamaare saath usne kya kiya, ye ham kisee se nahin kahenge..
Use jiana yaad karna tha kar liya, ab shaayad nahin karenge…

हिंदी सैड शायरी

Sad Shayari

तेरी मोहब्बत मेरे किनारे नहीं आती, मैं डूबता हूं तो बचाने नहीं आती…
तू कहती है, तू हमेशा मेरे साथ रहती है, फिर मुझे नजर क्यूँ नहीं आती…
Teri mohabbat mere kinare nahin aati, main doobta hoon to bachaane nahin aati…
Tu kahati hai, too hamesha mere saath rahati hai, phir mujhe najar kyun nahin aati…

कभी किसी से प्यार हुआ, तो उम्रभर हमें उसके साथ रहना था…
ये मेरी जिंदगी का पहला और बड़ा ही खूबसूरत सपना था…
Kabhi kisi se pyaar hua, to umrbhar hamen usake saath rahna tha…
Ye meree jindagi ka pahla aur bada hee khoobasurat sapna tha…

मेरा उसके सिवा कोई नहीं है, यह बात उसे अच्छे से पता है…
उससे मैं बहोत बहोत प्यार हूं, शायद इसीलिए वो मुझसे खफा है…
Mera usake siva koi nahin hai, yah baat use achchhe se pata hai…
Usse main bahot bahot pyaar hoon, shaayad isilie vo mujhse khafa hai…

आँखें आज भी उसे ढूंढ़ती हैं, इन बाहों को उसका इंतजार है…
मैं जिसकी बात कर रहा हूं, वो अब किसी और का प्यार है…
Aankhen aaj bhi use dhundhti hain, in baahon ko uska intajaar hai…
Main jiski baat kar raha hoon, vo ab kisi aur ka pyaar hai…

मेरे हिस्से में वो थोड़ा कम है, इसी बात का मुझ में गम है…
अब उसकी आँखों में किसी और के लिए प्यार है, इसीलिए तो मेरी आँखें नम हैं…
Mere hisse mein vo thoda kam hai, isi baat ka mujh mein gam hai…
Ab usaki aankhon mein kisee aur ke lie pyaar hai, isilie to meri aankhen nam hain…

Love Sad Shayari

Sad Shayari

तुम्हारे दिए जख्मों को संभाल के रखता हूं…
फिर कुछ याद नहीं करता, जब भी तुम्हें याद करता हूं…
Tumhare die jakhmon ko sambhaal ke rakhata hoon…
Phir kuchh yaad nahin rakhta, jab bhi tumhen yaad karta hoon…

तुम्हारे अलावा कभी किसी और से प्यार नहीं किया…
इसमें खता तुम्हारी भी है, तुमने भी कभी इनकार नहीं किया…
Tumhare alava kabhi kisi aur se pyaar nahin kiya…
Isamen khata tumhari bhi hai, tumne bhi kabhi inakaar nahin kiya…

तुमसे ही जुडी मेरी सारी बातें थीं…
तुम साथ नहीं थे, बस तुम्हारी यादें थीं…
Tumse hi judi meri saari baaten thin…
Tum saath nahin the, bas tumhari yaaden thin…

वो किसो और के साथ खुश दिखे, तो मेरे खतों को जला देना…
अगर वो मुझे ढूढ़ते हुए आए, तो ए खुदा उसे मेरा पता बता देना…
Vo kiso aur ke saath khush dikhe, to mere khaton ko jala dena…
Agar vo mujhe dhudhte hue aae, to e khuda use mera pata bata dena…

उनकी चाहतें मुझे मेरी जरुरत लग रहीं थीं…
कभी उन्हें सुना नहीं पाया, धड़कने जो मुझसे कह रहीं थीं…
Unki chaahaten mujhe meree jarurat lag raheen thi…
Kabhi unhen suna nahin paaya, dhadkane jo mujhse kah rahin thi…

बीते लम्हों को कभी-कभी छुआ करेंगे…
तुम जहां भी रहो, खुश रहो, उस रब यही दुआ करेंगे…
Beete lamhon ko kabhi-kabhi chhua karenge…
Tum jahaan bhee raho, khush raho, us rab yahi dua karenge…

मेरी मोहब्बत को जब उनका हक़ नहीं मिला…
मैं तब तुम्हारे बगैर जीना चाहता था, पर कभी वक्त नहीं मिला…
Meri mohabbat ko jab unka haq nahin mila…
Main tab tumhare bagair jeena chaahata tha, par kabhi vakt nahin mila…

दुआ करेंगे मोहब्बत में

Sad Shayari

दुआ करेंगे मोहब्बत में कभी किसी का दिल न टूटे…
हम तो इस मोहब्बत से न जाने कबसे हैं रूठे…
Dua karenge mohabbat mein kabhi kisi ka dil na tute…
Ham to is mohabbat se na jaane kabse hain ruthe..

ये कौन सी दीवार है, जो तुम्हारे और मेरे बीच खड़ी हुई है…
मेरी चाहतें सिर्फ तुम्हारी हैं, क्या तुम्हारी मेरी नहीं हुई है…
Ye kaun si deewar hai, jo tumhare aur mere beech khadi huyi hai…
Meree chaahaten sirf tumhari hain, kya tumhari meree nahin huee hai…

गम इस बात का नहीं है, के तू मेरा नहीं हुआ है…
गम इस बात का है, के मेरी रूह ने सिर्फ तुझी को छुआ है…
Gam is baat ka nahin hai, ke too mera nahin hua hai…
Gam is baat ka hai, ke meri rooh ne sirf tujhi ko chhua hai…

हम खुद टूट के बिखर चुके हैं…
पर ना किसी का दिल तोड़ा है और ना ही किसी का तोड़ सकते हैं…
Ham khud toot ke bikhar chuke hain…
Par na kisi ka dil toda hai aur na hi kisi ka tod sakte hain…

मेरी दुआएँ उसके साथ है और वो भी बहुत खुश है…
भले ही मैं उसके लिए कुछ नहीं हूं, पर वो मेरे लिए बहुत कुछ है…
Meri duaen uske saath hai aur vo bhi bahut khush hai…
Bhale hi main uske lie kuchh nahin hoon, par vo mere lie bahut kuchh hai..

मैं दुआ करूंगा तुम जिससे प्यार करो, वो तुम्हारे साथ घर से निकले…
तुम भी दुआ करना मेरी मोहब्बत, मोहब्बत बनी रहे, नफरत में ना बदले…
Main dua karunga tum jisse pyaar karo, vo tumhaare saath ghar se nikale…
Tum bhi dua karna meri mohabbat, mohabbat bani rahe, nafarat mein na badle…

Breakup Sad Shayari

Sad Shayari

कुछ गलतियां उन्होंने की, कुछ गलतियां मैं कर गया…
बाकी सब तो ठीक है, बस मोहब्बत में इधर-उधर हो गया…
Kuchh galtiyaan unhone kee, kuchh galtiyaan main kar gaya…
Baaki sab to theek hai, bas mohabbat mein idhar-udhar ho gaya…

एक तरफ़ा प्यार में एक राज है…
कभी पूरा नहीं होता, ऐसा एक साज है…
Ek tarfa pyar me ek raaj hai..
Kabhi poora nhi hota, aisha ek raaj hai..

हजारों गमों को एक साथ समेट लिया…
एक मोहब्बत ही बाकी थी, उसे भी करके देख लिया…
Hajaaron gamon ko ek saath samet liya…
Ek mohabbat hee baaki thi, use bhi karke dekh liya…

मेरी मोहब्बत कोई वो मेरा इंतकाम समझ रहे हैं…
जाके उन्हें कोई बता दो, वो बेवजह ही परेशान हो रहे हैं…
Meree mohabbat koi vo mera intkaam samajh rahe hain…
Jaake unhen koi bata do, vo bevajah hi pareshaan ho rahe hain…

सभी सोचते हैं उससे बेइंतहा प्यार करेंगे, जब हमें पहला प्यार होगा…
अरे तुम तो कर ही लोगे, पर उसे तुम्हारे जितना कभी नहीं होगा…
Sabhi sochate hain usase beintaha pyaar karenge, jab hamen pahala pyaar hoga…
Are tum to kar hi loge, par use tumhare jitna kabhi nahin hoga…

तेरी गलियों में मुझे जाना ही नहीं था…
वादे तुझे भी नहीं करना था, जब निभाना ही नहीं था…
Teri galiyon mein mujhe jaana hee nahin tha…
Vaade tujhe bhi nahin karna tha, jab nibhana hu nahin tha…

उससे बिछड़ने के बाद, मेरी जिंदगी गुमनाम हो गई…
वादा किया था साथ निभाने का, पर वक्त के साथ वो भी बदल गई…
Usse bichhadne ke baad, meri jindagi gumanaam ho gaee…
Vaada kiya tha saath nibhane ka, par vakt ke saath vo bhi badal gaee…

Sad Shayari 2 line

Sad Shayari

ये आँखें बस उसे ही ढूंढती थी, और वही मेरे ख्वाबों में भी रहती थी…
आज उसे किसी और का होते देखा है, जो कभी मेरे बगैर नहीं रहती थी…
Ye aankhen bas use hee dhundhati thi, aur vahu mere khwaabon mein bhi rahati thee…
Aaj use kisi aur ka hote dekha hai, jo kabhi mere bagair nahin rahati thi…

आज भी तुझसे प्यार करता हूं, सोचता हूं तूू आज नहीं तो कल आएगा…
पर जिस दिन तुझसे नफरत करना शुरू करूंगा, तुझे पता चल जाएगा…
Aaj bhi tujhse pyaar karta hoon, sochata hun tu aaj nahin to kal aaega…
Par jis din tujhse nafarat karna shuroo karunga, tujhe pata chal jaega…

ना ठहरने वाली मोहब्बत एक दिन ख़तम हो जाती है…
और जहां मोहब्बत ठहरती है, वहां से सिर्फ खुशबू आती है…
Na thaharne vaali mohabbat ek din khatam ho jaatee hai…
Aur jahaan mohabbat thaharti hai, vahaan se sirf khushaboo aati hai…

काश मैं उन्हें चारों तरफ से घेर सकता…
वो इतनी देर रुके भी तो नहीं, के जी भर के उन्हें देख सकता…
Kaash main unhen chaaron taraf se gher sakata…
Vo itani der ruke bhi to nahin, ke ji bhar ke unhen dekh sakata…

मुझसे ना मिलना, तुम्हारी कोई मजबूरी है क्या…
मैं बिछड़ना नहीं चाहता हूँ, फिर बिछड़ना जरुरी है क्या…
मुझसे दूर जा रहे हो, जाना जरुरी है क्या…
तुम्हारे बिना मेरी जिंदगी अधूरी है, मेरे बिना तुम्हारी पूरी है क्या….
तुम्हारे हिस्से की नमाज अब मैं पढ़ने लगा हूँ…
एक दूसरे को मांग ना सकें, हम में इतनी दूरी है क्या…
Mujhse door ja rahe ho, jaana jarori hai kya…
Tumhare bina meri jindagi adhuri hai, mere bina tumhari poori hai kya…
Tumhare hisse ki namaj ab main padne laga hun…
Ek dusare ko maang na saken, ham men itni doori hai kya…

Hard Sad Shayari

दूर मैं तुझसे जरूर हुआ हूँ, पर दूर मैं तुझसे हुआ नहीं…
तेरी यादें हमेशा मेरे साथ थी, जिनके बगैर मैं कभी रहा नहीं…
Door main tujhse jaroor hua hoon, par door main tujhse hua nahin…
Teri yaaden hamesha mere saath thi, jinke bagair main kabhi raha nahin…

तू कितनी भी कोशिश कर ले, मुझे खुद से दूर नहीं कर सकती…
तू खुद को तो मना लेगी, पर मुझे मजबूर नहीं कर सकती…
Tu kitni bhi koshish kar le, mujhe khud se door nahin kar sakti…
Tu khud ko to mana legi, par mujhe majboor nahin kar sakti…

मिल जा मुझे, अब तुझमें ही खोना है…
ना किसी और से मिलना है, ना किसी और का होना है…
Mil ja mujhe, ab tujhmen hi khona hai…
Na kisi aur se milna hai, na kisi aur ka hona hai…

मैं उसके पीछे-पीछे था, वो मेरे आगे आगे चल रही थी…
मैं उसका हाथ पकड़ रहा था और वो हाथ झटक रही थी…
Main uske peechhe-peechhe tha, vo mere aage aage chal rahi thi…
Main uska haath pakad raha tha aur vo haath jhatak rahi thi…

वो प्यार ही है, जो सबके हिस्से में नहीं आता है..
जिसे प्यार कभी मिला नहीं होता, इसे बस वही निभाता है…
Vo pyaar hee hai, jo sabke hisse mein nahin aata hai..
Jise pyaar kabhu mila nahin hota, ise bas vahee nibhata hai…

वो किसी और का प्यार है, कभी खुद से ज्यादा जिसपे हमें एतबार था…
नजर आते हैं तो ठहर जाते हैं, क्या करें कभी हमें भी उनसे प्यार था…
Vo kisi aur ka pyaar hai, kabhi khud se jyaada jispe hamen etabaar tha…
Najar aate hain to thahar jaate hain, kya karen kabhi hamen bhi unse pyaar tha…

सैड शायरी बॉय

तुमने मुझे छोड़ दिया, फिर भी मुझे तुमसे कोई गिला नहीं…
बस बात तुमने उनकी मान ली, जिनसे मैं कभी मिला नहीं…
Tumane mujhe chhod diya, phir bhi mujhe tumse koi gila nahin…
Bas baat tumne unki maan li, jinse main kabhu mila nahin…

ये आंखें बस उसे ही ढूंढती थी और वही मेरे ख्वाबों में रहती थी…
आज उसे किसी और का होते देखा, जो कभी मेरे बगैर नहीं रहती थी…
Ye aankhen bas use hi dhundhati thi aur vahee mere khwaabon mein rahti thi…
Aaj use kisi aur ka hote dekha, jo kabhi mere bagair nahin rahti thi…

दूर मैं तुझसे जरूर हुआ हूं, पर दूर मैं तुझसे हुआ नहीं…
तेरी यादें हमेशा मेरे साथ थीं, जिनके बगैर मैं कभी रहा ही नहीं…
Door main tujhase jaroor hua hoon, par door main tujhase hua nahin…
Teri yaaden hamesha mere saath theen, jinake bagair main kabhee raha hee nahin…

ले चल मुझको कहीं भी मैं राजी हूँ…
जाये तू कहीं भी, मैं अब तेरा आदी हूँ…
Le chal mujhako kaheen bhi main raaji hoon…
Jaaye tu kaheen bhi, main ab tera aadi hoon…

आज मैं जिससे मिला, वो मेरा कोई अपना था…
सुबह आँख खुली तो पता चला, वो तो बस एक सपना था…
Aaj main jisse mila, vo mera koi apna tha…
Subah aankh khuli to pata chala, vo to bas ek sapna tha…

कभी हम भी किसी और के ख्वाब देखते थे…
वो झूठ बोलते थे और हम सच मान लेते थे…
Kabhee ham bhi kisi aur ke khwaab dekhte the…
Vo jhooth bolate the aur ham sach maan lete the…

मेरी मोहब्बत ऐसी है

मेरी मोहब्बत ऐसी है, के मैं किसी को बता नहीं सकता…
वो मुझे ही गलत कहेंगे, और मैं उन्हें गलत कह नहीं सकता…
Meri mohabbat aisi hai, ke main kisi ko bata nahin sakata…
Vo mujhe hi galat kahenge, aur main unhen galat kah nahin sakta…

वो बहोत बोलती थी और उसकी बातें भी बहोत अच्छी थी..
अब वो किसी और से साथ दिखती है, तो सोचता हूं पहले वो कितनी अच्छी थी..
Vo bahot bolati thi aur usaki baaten bhee bahot achchhi thi..
Ab vo kisi aur se saath dikhatee hai, to sochata hoon pahale vo kitani achchhi thi..

किसी और से प्यार तो मैं भी करना चाहता हूं, पर ये दिल है की मानता नहीं…
मैं इसे किसी और के बारे में सोचने कोई कहता हूं, ये कहता है की मैं किसी और कोई तो जानता ही नहीं…
Kisi aur se pyaar to main bhi karna chaahata hoon, par ye dil hai kee maanata nahin…
Main ise kisi aur ke baare mein sochane koee kahta hoon, ye kahata hai kee main kisi aur koi to jaanata hi nahin…

मैं भी तुम्हें भूल जाऊंगा, तुम भी मुझे याद मत करना…
जो तुमने मेरे साथ किया है, अब वो किसी और के साथ मत करना…
Main bhi tumhen bhool jaunga, tum bhee mujhe yaad mat karna…
Jo tumne mere saath kiya hai, ab vo kisee aur ke saath mat karna…

अफ़सोस

अफ़सोस इस बात का नहीं है की वो मुझसे प्यार नहीं करता…
काश उसने पहले बताया होता, तो शायद आज मेरा भी कोई होता…
Afasos is baat ka nahin hai kee vo mujhase pyaar nahin karta…
Kaash usane pahle bataaya hota, to shaayad aaj mera bhee koi hota…

हल ए दिल की दास्ताँ सुनाये किसे, आँखें कई रातों से सोई नहीं है…
हम सभी कोई अपना मान लेते हैं, पर हमें अपना मानने वाला कोई नहीं है…
Hal e dil kee daastaan sunaaye kise, aankhen kai raaton se soi nahin hai…
Ham sabhi koi apna maan lete hain, par hamen apna maanne vaala koi nahin hai…

तुझसे मिलने कोई मेरा दिल बेक़रार है…
सवाल मेरा अब भी वही है, क्या तुझे भी मुझसे प्यार है…
Tujhse milne koi mera dil beqraar hai…
Savaal mera ab bhi vahi hai, kya tujhe bhu mujhse pyaar hai…

ये मंजर मेरे प्यार का है, जो कभी ख़तम नहीं होगा…
मैं उससे कितना भी प्यार कर लूँ, वो मेरा कभी नहीं होगा…
Ye manjar mere pyaar ka hai, jo kabhi khatam nahin hoga…
Main usse kitna bhi pyaar kar lun, vo mera kabhi nahin hoga…

ये प्यार मोहब्बत सब एक धोखा है…
जो जितना करता है, वो उतना ही रोता है…
Ye pyaar mohabbat sab ek dhokha hai…
Jo jitana karta hai, vo utana hee rota hai..

खुद को जानना हो तो किसी से प्यार कर लेना…
दूसरों पे एतबार करते हो, एक बार खुद पर भी कर लेना…
Khud ko jaanana ho to kisi se pyaar kar lena…
Dusaron pe etabaar karte ho, ek baar khud par bhee kar lena…


Spread the love

Leave a Comment