True Love Shayari | Intezaar True love Shayari

Spread the love

In this page you will read true love shayari, true love love shayari in hindi, intezaar true love shayari etc…

True Love Shayari

True love shayari

पूरी हो जाएंगी वो बातें कही अन कही…
मैं साथ नहीं छोडूंगा, तुम हाथ पकड़ो तो सही…
Puri ho jaengi vo baaten kahi an kahee…
Main saath nahin chhodunga, tum haath pakdo to sahi…

तू साथ है मेरे, तो मेरा हर गम खुश है…
इश्क़ है तू मेरा, तू ही मेरा सब कुछ है…
Tu saath hai mere, to mera har gam khush hai…
Ishq hai tu mera, tu hi mera sab kuchh hai…

True love shayari

मेरे लिए बनी है तू, तेरे लिए बना हूँ मैं…
तू साथ चली है मेरे, तेरे साथ चला हूँ मैं…
Mere lie bani hai tu, tere lie bana hoon main…
Tu saath chali hai mere, tere saath chala hun main…

अपना हर एक कदम, मैं तेरे साथ रखूंगा…
बातें तू कुछ भी करे, मैं बातें तेरी ही करूँगा…
Apna har ek kadam, main tere saath rakhunga…
Baaten tu kuchh bhi kare, main baaten teri hi karunga…

True love shayari

मैं तुम्हारे सामने खुली किताब हूँ, बाकी सब के लिए एक राज हूँ…
किनारों पे तुमने मुझे थाम रखा है, वरना मैं समंदर के बेहद पास हूँ…
Main tumhare saamane khuli kitaab hun, baaki sab ke lie ek raaj hun…
Kinaron pe tumne mujhe thaam rakha hai, varna main samandar ke behad paas hun…

सब कुछ खोके भी, मैं तुम्हें पाना चाहता हूं…
तुम भी ना जुदा कर सको, तुम्हारे इतना करीब आना चाहता हूं…
Sab kuchh khoke bhee, main tumhen paana chahta hoon…
Tum bhi na juda kar sako, tumhare itna kareeb aana chahta hoon…

Intezaar True love Shayari

True love shayari

जितनी मोहब्बत मुझे तुमसे है, उतनी तुमसे कोई और नहीं कर सकता…
मैं तुमसे खफा हो सकता हूं, पर खुद को तुमसे दूर नहीं कर सकता…
Jitni mohabbat mujhe tumse hai, utani tumse koi aur nahin kar sakta…
Main tumse khafa ho sakta hoon, par khud ko tumse door nahin kar sakta…

मोहब्बत का नाम आता है, तो अब तुम्हारा ही खयाल आता है…
सबसे मैंने दूरियाँ बढ़ा रखी है, पर तुम्हारे लिए ये बदलना चाहता है…
Mohabbat ka naam aata hai, to ab tumhaara hee khayaal aata hai…
Sabse maine duriyaan badha rakhi hai, par tumhare lie ye badalna chahata hai…

True love shayari

तुम मेरे ख़यालों में आके, मुझे परेशान करते हो..
मैं तुम्हें याद करता हूं, क्या तुम मुझे याद करते हो..
Tum mere khayalon mein aake, mujhe pareshaan karte ho..
Main tumhen yaad karta hoon, kya tum mujhe yaad karte ho..

तुम्हारी यादें मेरे पास आके, मेरे साथ मुस्कुराती हैं…
जब तुम अकेले होते हो, क्या तुम्हें मेरी याद आती है…
Tumhaari yaaden mere paas aake, mere saath muskurati hain…
Jab tum akele hote ho, kya tumhen meri yaad aati hai…

True love shayari

तुम्हारी मुस्कुराहटों से, मेरे चहरे पे नूर आता है…
तुम नजदीक होते हो, तो हर गम मुझसे दूर हो जाता है…
Tumhaari muskurahaton se, mere chahare pe noor aata hai…
Tum najdik hote ho, to har gam mujhse door ho jaata hai…

चाहतें फसलों से रुठती नहीं हैं, आदतें किसी और को ढूंढती नहीं हैं…
मेरी जरूरतों में तुम शामिल हो, किसी और के लिए ख्वाहिशें मुझे रोकती नहीं हैं…
Chahten fasalon se ruthati nahin hain, aadaten kisi aur ko dhundhati nahin hain…
Meri jaruraton mein tum shaamil ho, kisi aur ke lie khwahishen mujhe rokti nahin hain…

True love Shayari For GF

True love shayari

जिस घर में तुम्हारी खुशियाँ गूंजे, वो घर मेरा हो…
कभी हो अगर, तो तुम्हारी बाहों में ही मेरा सवेरा हो…
Jis ghar mein tumhari khushiyaan goonje, vo ghar mera ho…
Kabhi ho agar, to tumhari baahon mein hi mera savera ho…

थोड़ा प्यार मुझसे भी जताओ, कम नहीं होगी मोहब्बत जताने में…
शायद तुम मुझे भुला भी दो, पर मुझे तो जमाने लगेंगे तुम्हें भुलाने में…
Thoda pyaar mujhse bhi jatao, kam nahin hogi mohabbat jataane mein…
Shaayad tum mujhe bhula bhi do, par mujhe to jamane lagenge tumhen bhulane mein…

True love shayari

ना चाहते हुए भी तुम्हारा इंतजार किया है…
जबसे होश संभाला है, सिर्फ तुम्हीं से प्यार किया है..
Na chaahate hue bhi tumhara intajaar kiya hai…
Jabase hosh sambhala hai, sirf tumhin se pyaar kiya hai…

ये इश्क मेरा कितना अजीब है, तू दूर हो के भी कितना करीब है…
मिलने की ख्वाहिश तो कब से है, ना मिल पाना तो अपना नसीब है…
Ye ishq mera kitna ajeeb hai, tu door ho ke bhi kitna kareeb hai…
Milne ki khwahish to kab se hai, na mil paana to apna naseeb hai…

True love shayari

तुम्हारे दिन भी नहीं कट रहे हैं, ये तुम्हें मुझसे कहना चाहिए…
मेरी मोहब्बत तुम्हारे आईने में है, जाके तुम्हें एक बार देखना चाहिए…
Tumhare din bhi nahin kat rahe hain, ye tumhen mujhse kahna chaahie…
Meree mohabbat tumhaare aaeene mein hai, jaake tumhen ek baar dekhana chaahie…

जो मुझे नहीं समझते हैं, मैं उनसे क्या कहूं…
मुझे तुम्हारे साथ जीना है, फिर तुम्हारे बगैर क्यूँ रहूं…
Jo mujhe nhi samajhte, mai unse kya kahu
Mujhe tumhare sath jeena hai, phir tumhare bagair kyu rahu…

True Love Shayari 2 Line

True love shayari

वो पल मुझे खटकता है, जिनमें तुम्हें किसी और के साथ देखता हूं…
मैं जानता हूं तुम्हें पाना मुश्किल है, फिर भी तुम्हारे ही ख्वाब देखता हूं…
Vo pal mujhe khatkata hai, jinmen tumhen kisi aur ke saath dekhata hoon…
Main jaanata hoon tumhen paana mushkil hai, phir bhee tumhare hi khwaab dekhta hoon…

मेरी चाहतें तुम्हारी हैं, फिर बताओ ये कैसा शक है…
तुम्हारी आंखों से दूर हूं तो क्या हुआ, मुझमें एक तुम्हारा ही हक है…
Meri chaahaten tumhari hain, phir batao ye kaisa shak hai…
Tumhari aankhon se door hoon to kya hua, mujhmen ek tumhara hi haq hai…

True love shayari

तुम मेरी नजरों के बेहद पास होते हो…
मेरे ख्वाबों में, तुम हमेशा मेरे साथ होते हो…
Tum meri najaron ke behad paas hote ho…
Mere khwaabon mein, tum hamesha mere saath hote ho..

जमाने की फ़िक्र छोड़, मेरी बाहों में क्यूँ नहीं रहते हो तुम…
मेरे ख्वाबों में आ के हर रोज, ऐसी ही बातें करते हो तुम…
Jamaane ki fikr chhod, meri baahon mein kyun nahin rahte ho tum…
Mere khwaabon mein aa ke har roj, aisi hi baaten karte ho tum…

True love shayari

हम एक-दूसरे को समझेंगे, तो ये ख्वाहिशें नम नहीं होंगी…
नजदीकियाँ जब तक नहीं बढ़ाएंगे, ये दूरियां कम नहीं होंगी…
Ham ek-dusare ko samajhenge, to ye aankhen kabhi nam nahin hongi…
Najdikiyaan jab tak nahin badhaenge, ye duriyaan kam nahin hongi…

अपनी आंखों को तुम मेरे ख्वाब दिखाना…
जब अपने हाथों में मेहंदी मेरे नाम की लगाना…
Apani aankhon ko tum mere khwaab dikhana…
Jab apne haathon mein mehandi mere naam ki lagana…

Sad True Love Shayari

True love shayari

मेरी चाहतें तुम्हें देखती हैं, अपनी चाहतों में तुम मुझे शामिल कब करोगी…
जब मोहब्बत मुझसे रूठ जाएगी, तुम मोहब्बत की शुरुआत क्या तब करोगी….
Meri chahaten tumhen dekhti hain, apani chahaton mein tum mujhe shaamil kab karogi…
Jab mohabbat mujhse rooth jaegi, tum mohabbat ki shuruaat kya tab karogi…

जिस तरफ तुम चलोगे, उस तरफ मैं अपना रास्ता मोड़ लूंगा…
जिस आईने में तुम्हारी परछाई नहीं दिखेगी, वो आईना मैं तोड़ दूंगा…
Jis taraf tum chaloge, us taraf main apana raasta mod lunga…
Jis aaine mein tumhari parchhayi nahin dikhegi, vo aaina main tod dunga…

True love shayari

तुम्हारी आँखों में नमीं देख के, कभी मेरा दिल खुश नहीं होगा…
मुझे मोहब्बत तुमसे हुई है, अब दोबारा किसी और से नहीं होगा…
Tumhari aankhon mein namin dekh ke, kabhi mera dil khush nahin hoga…
Mujhe mohabbat tumse hui hai, ab dobaara kisi aur se nahin hoga…

तुम्हारे बगैर जीना, अब मेरे लिए एक सजा होगा…
मुझे तुमसे कितनी मोहब्बत है, ये तुम्हें तो पता होगा…
Tumhaare bagair jeena, ab mere lie ek saja hoga…
Mujhe tumse kitni mohabbat hai, ye tumhen to pata hoga…

उन आशिको को तुम पे अपना प्यार नजर आया होगा…
जब – जब इस चेहरे को तुमने मेरे लिए सजाया होगा…
Un aashiko ko tum pe apana pyaar najar aaya hoga…
Jab – jab is chehare ko tumane mere lie sajaya hoga…

मोहब्बत को मत आजमाना, ये किसी की खास नहीं होती…
जब भी किसी से रूठती है, फिर दोबारा उसकी नहीं होती…
Mohabbat ko mat aajmaana, ye kisi ki khaas nahin hoti…
Jab bhi kisi se ruthati hai, phir dobaara usaki nahin hoti…

हिंदी ट्रू लव शायरी

अगर कोई तुमसे पूछे, मैं क्या करता हूं…
तो कह देना उनसे, मैं तुमसे प्यार करता हूं…
Agar koi tumse poochhe, main kya karta hun…
To kah dena unse, main tumse pyaar karta hun…

मोहब्बत भी मुझसे क्या-क्या करवा रही है…
हर एक पल ये मुझे तुम्हारे लिए तड़पा रही है…
Mohabbat bhi mujhse kya-kya karava rahi hai…
Har ek pal ye mujhe tumhare lie tadpa rahi hai…

तुम्हारा किसी और के नजदीक जाना, मुझे चुभता है…
मेरा बढ़ाया हुआ हर एक कदम, सिर्फ तुम्हारे लिए रुकता है…
Tumhara kisi aur ke najdeek jaana, mujhe chubhata hai…
Mera badhaya hua har ek kadam, sirf tumhare lie rukata hai…

आँखों से निकले आंसुओ को पोछता हूं…
जब कभी मैं तुम्हारे बारे में सोचता हूं…
Aankhon se nikale aansuo ko pochhata hun…
Jab kabhi main tumhare baare mein sochata hun…

अकेलेपन में, जब तुम्हारा खयाल आता है…
फसलों की वजह से, वक्त पे मलाल आता है…
Akelepan mein, jab tumhara khayaal aata hai…
Fasalon ki vajah se, vakt pe malal aata hai…

मंजिल मैं ढूंढ लूंगा, तुम बस मेरे साथ रहना…
जब अकेला पड़ जाऊं, तो मेरे हाथों में अपने हाथ रखना…
Manjil main dhundh lunga, tum bas mere saath rahna…
Jab akela pad jaun, to mere haathon mein apane haath rakhna…

2 लाइन ट्रू लव शायरी

इश्क़ में दिल को थोड़ा मासूम होना चाहिए…
मेरी चाहती तुम्हारी हैं, ये तुम्हें मालूम होना चाहिए…
Ishq mein dil ko thoda maasoom hona chaahie…
Meri chahati tumhari hain, ye tumhen maaloom hona chaahie…

मोहब्बत भी मुझसे क्या-क्या करवा रही है…
हर एक पल, ये मुझे तुम्हारे लिए तड़पा रही है…
Mohabbat bhi mujhse kya-kya karava rahi hai…
Har ek pal, ye mujhe tumhaare lie tadpa rahi hai…

मैं तुम्हारे करीब होता, तो अपनी हर एक बात तुमसे कहता…
अपनी चाहतों को तुम्हारे नाम करके, तुम्हारी बाहों में रहता…
Main tumhare kareeb hota, to apani har ek baat tumse kahta…
Apani chaahaton ko tumhare naam karake, tumari baahon mein rahta…

तुम्हारी खुशियों से मेरा दिल खिलता है…
पर मुझे सता के, ना जाने तुम्हें क्या मिलता है…
Tumhari khushiyon se mera dil khilata hai…
Par mujhe sata ke, na jaane tumhen kya milta hai…

मेरी सोई हुई रातों को जगाने आती हो…
तुम्हें कैसे बताऊँ, तुम मुझे कितना याद आती हो…
Meri soi hui raaton ko jagane aati ho…
tumhen kaise bataun, tum mujhe kitna yaad aati ho…

सुनो मेरा ये दिल तुमसे कहता है क्या…
चांदनी के बिना, वो चाँद कभी रहता है क्या…
Suno mera ye dil tumase kahta hai kya…
chaandani ke bina, vo chaand kabhi rahta hai kya…

हिंदी ट्रू लव शायरी

जब अकेलापन सताए, मुझे अपने पास बुला लेना…
तुम्हें देखते-देखते थक जाऊं, तो अपनी बाहों में सुला लेना…
Jab akelapan satae, mujhe apane paas bula lena…
Tumhen dekhate-dekhate thak jaun, to apani baahon mein sula lena…

गैरों से ना कह के, सब मुझसे कहती हो…
मुझे अच्छा लगता है, जब तुम मेरे साथ रहती हो…
Gairon se na kah ke, sab mujhase kahati ho…
Mujhe achchha lagta hai, jab tum mere saath rahati ho…

मेरी साँसे तुम्हें जानती हैं, ये मेरी धड़कने तुम्हें पहचानती हैं…
मैं ख्वाबों में भी तुम्हारा ही नाम लेता हूँ, मेरी चाहतें भी तुम्हीं को मांगती हैं…
Meri saanse tumhen janti hain, ye meri dhadkane tumhen pahchanti hain…
Main khwaabon mein bhi tumhara hi naam leta hun, meri chahaten bhi tumhin ko mangti hain…

अपनी जिद छोड़ के, मेरा हक़ मुझे दिला देना….
मैं अगर भटक जाऊं, मुझे मुझसे मिला देना…
Apani jid chhod ke, mera haq mujhe dila dena….
Main agar bhatak jaun, mujhe mujhse mila dena..

तुम मेरे हो और मैं तुम्हारा हूं…
फिर भी तुम्हारे बगैर ही दिन गुजारता हूं…
Tum mere ho aur mai tumhara hu
Phir bhi tumhare bagair hi din gujarta hu

मानता हूं तुमसे मोहब्बत करना मेरी खता है…
फिर मैं तो उन्हें भुला भी दूँ, पर मेरी कमजोरी उन्हें पता है…
Maanta hu tumse Mohabbat karna meri khata hai
Phir mai to unhe bhula bhi dun, par meri kamjori unhe pta hai..

मैंने उन्हें अपने जहन में उतारा होगा…
जिस-जिस ने तुम्हारा नाम, मेरे नाम से पुकारा होगा…
Maine unhe apne jahan men utara hoga
Jis-jis ne tumhara naam, mere naam se pukara hoga


Spread the love

Leave a Comment